india

ओवैसी ने PM मोदी पर साधा निशाना, कहा-“बोलना था चीन पर, बोल गए चना पर”

लॉकडाउन 5.0 का आज आखिरी दिन है। इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के नाम संबोधन किया। इसमें खास फोकस कोरोना वायरस और लॉकडाउन पर रहा। हालांकि, कयास लगाए जा रहे थे कि चीन के मुद्दे पर भी प्रधानमंत्री कुछ बोल सकते हैं। संबोधन में चीन का जिक्र न होने पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा है। ओवैसी ने कहा कि आज चीन पर बोलना था, बोल गए चना पर।

टि्वटर हैंडल पीएमओ इंडिया को टैग करते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने लिखा कि आज चीन पर बोलना था, बोल गए चना पर। दरअसल, इसी की जरूरत भी थी क्योंकि आपके अनियोजित लॉकडाउन ने कई लोगों को भूखा छोड़ दिया है।” त्योहारों को लेकर भी ओवैसी ने प्रधानमंत्री मोदी के संबोधन पर निशाना साधा। ओवैसी ने कहा कि आपने आगामी महीने में पड़ने वाले कई पर्व-त्योहारों का नाम लिया लेकिन बकरीद को भूल गए। चलिए, फिर भी आपको पेशगी ईद मुबारक।”

कांग्रेस ने भी एक ट्वीट में कहा है कि ‘प्रधानमंत्री को अनियोजित लॉकडाउन से देशवासियों को हुए फायदे बताने चाहिए। कोरोना नियंत्रण के लक्ष्य में तो लॉकडाउन पूर्णतया विफल साबित हुआ है। देश जानना चाहता है कि अनियोजित लॉकडाउन के तय लक्ष्यों को देश पा सका है या नहीं’? साथ ही कांग्रेस ने प्रधानमंत्री के संबोधन में चीन मुद्दे का जिक्र न होने पर भी सवाल उठाया।

एक ट्वीट में कांग्रेस ने कहा कि चीन की आलोचना करने वाली बात भूल जाएं, अपने राष्ट्रीय संबोधन में वे (प्रधानमंत्री) इसका जिक्र करने से भी डरते हैं। कांग्रेस ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का संबोधन कोई सरकारी अधिसूचना हो सकती थी। हालांकि, कांग्रेस ने गरीबों के लिए अनाज योजना को नवंबर तक बढ़ाए जाने की सराहना की। कांग्रेस ने कहा कि यह जानकर खुशी हुई कि प्रधानमंत्री ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के आग्रह पर गौर किया है जिसमें गरीबों को मुफ्त अनाज देने की योजना को आगे बढ़ाने की मांग की गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *