Home india कहर बनकर टूटा 'अम्फान', 4 लोगों की गई जान

कहर बनकर टूटा ‘अम्फान’, 4 लोगों की गई जान

देश इन दिनों एक तरफ कोरोना की मार तो दूसरी तरफ अम्फान तूफान लोगों पर कहर बनकर टूट रहा है। जी हां, पश्चिम बंगाल और ओडिशा के कुछ हिस्सों से सुपर साइक्लोन अम्फान टकरा चुका है। बंगाल और ओडिशा में तूफानी हवाओं के साथ मूसलाधार बारिश हुई। दोनों ही राज्यों के कई इलाकों में पेड़ और दीवारें गिर गई हैं। वहीं, इस तूफान से अब तक चार लोगों की मौत हो चुकी है। कई इलाकों में बिजली भी गुल हो गई है।

भुवनेश्वर मौसम विभाग के डायरेक्टर एचआर बिश्वास का कहना है कि अम्फान एक गंभीर चक्रवातीय तूफान की तरह गुजरा। गुजरते वक्त यह इसकी गति 155 से 165 किमी प्रति घंटे थी, जो बढ़कर 185 तक हो गई। अभी यह सागर द्वीप (पश्चिम बंगाल) के 35 किमी उत्तर पूर्व में हैं। यह साउथ कोलकाता से 70 किमी और उत्तर पूर्वी दीघा से 95 किमी दूर है। कोलकाता में हवा की रफ्तार 7.20 बजे 133 किमी प्रति घंटे और 6.47 बजे 114 किमी प्रति घंटे दर्ज की गई। दक्षिण कोलकाता से 70 किमी की दूरी पर अम्फान तूफान है।

तूफान अम्फान से अब तक चार लोगों की जान जा चुकी है। दो मौतें पश्चिम बंगाल में हुई हैं। उत्तर 24 परगना जिले के मिनखा में एक 55 वर्षीय महिला की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि महिला पर पेड़ गिर गया था। वहीं, हावड़ा में एक टिन शेड के परखच्चे उड़ने और उसकी चपेट में आने से 13 साल की एक लड़की की मौत हो गई।

कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा है कि कोलकाता सहित पश्चिम बंगाल का एक बड़ा हिस्सा अम्फान तूफान से तबाह हो गया है। 130 से 185 किमी / घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं। जिससे भारी मात्रा में नुकसान होने की आशंका है। केंद्र सरकार को पश्चिम बंगाल और उड़ीसा राज्य के प्रति सभी प्रकार का सहयोग करना चाहिए।

मौसम विभाग की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, कोलकाता से गुजरते समय चक्रवात की हवा की गति 113 किमी प्रति घंटा थी। कोलकाता के हालिया इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है। बीजेपी सांसद बाबुल सुप्रियो के घर के पास की दीवार गिर गई है। ये हादसा हावड़ा में हुआ है।

एनडीआरएफ के डीजी एसएन प्रधान ने जानकारी देते हुए कहा कि बंगाल में सुपर साइक्लोन अम्फान का लैंडफाल शुरू हो गया है। अगले कुछ घंटे काफी अहम हैं, क्योंकि करीब चार घंटे तक लैंडफाल की प्रक्रिया चलेगी। पूरे हालात पर हम नजर बनाए हुए हैं। उन्होंने कहा कि लैंडफाल के बाद हमारा काम शुरू होता है।

NDRF के डीजी एसएन प्रधान ने कहा कि पश्चिम बंगाल और ओडिशा दोनों ही राज्यों पर हमारी नजर बनी हुई है ओडिशा में एनडीआरएफ की 20 टीमें और पश्चिम बंगाल में 19 टीमें लगी हुई हैं. NDRF के डीजी ने कहा कि सभी टीमों के पास सेटेलाइट संचार सिस्टम है. हमारे पास अत्याधुनिक पेड़ कटाई और खंभों की कटाई के यंत्र हैं. दोनों राज्यों में 41 टीमों तैनात हैं. बंगाल में दो टीमें स्टैंड बाई पर रखी गई हैं, जिसमें से एक टीम अभी कोलकाता में तैनात की जा रही है.

भारतीय मौसम विभाग (IMD) के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने कहा कि सुपर साइक्लोन अम्फान पश्चिम बंगाल में सुंदरबन के पास पहुंच रहा है. तूफान की वजह से ओडिशा में करीब 106 किमी प्रति घंटे की स्पीड से हवाएं चल रही हैं. सुपर साइक्लोन के आज शाम तक कोलकाता के पास पहुंचने की उम्मीद है. उन्होंने कहा कि हमारे अनुमान के मुताबिक, कोलकाता पहुंचने पर तूफान की रफ्तार करीब 110 किमी प्रति घंटा होगी. चक्रवाती तूफान अम्फान सुंदरबन के करीब से पश्चिम बंगाल-बांग्लादेश के तटीय इलाके यानी दीघा (पश्चिम बंगाल) और हटिया द्वीप समूह (बांग्लादेश) के बीच से होकर गुजरेगा.

बंगाल की खाड़ी में उठा तूफान अम्फान अब बहुत तेजी से पश्चिम बंगाल के तट की ओर बढ़ रहा है. सुपर साइक्लोन तट के किनारे की ओर जैसे बढ़ता जा रहा है, ऐसे ही खतरनाक होता जा रहा है. तूफान सबसे पहले ओडिशा से पारादीप से टकराएगा. पारादीप में तूफान की आहट दिखने लगी है, जहां तेज हवा के साथ बारिश हो रही है. वहीं, ओडिशा और बंगाल के तटीय इलाकों में सन्नाटा पसरा है.

ओडिशा और बंगाल के तटीय इलाकों में सन्नाटा पसरा है. कोरोना महामारी के बीच तूफान की तबाही की आशंका से लोग डर हुए हैं. तेज हवाओं से लोग खौफ में हैं. लोगों को लगातार सावधान रहने की हिदायत दी जा रही हैं. उनसे घरों में रहने की अपील की जा रही है. प्रशासन ने 14 लाख से ज्यादा लोगों को सुरक्षित जगहों पर शिफ्ट किया है. एनडीआरएफ की टीमें भी मोर्चे पर तैनात हैं.

NDRF प्रमुख एसएन प्रधान ने कहा, ओडिशा में समुद्र के किनारे वाले इलाके में हवा 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बह रही है. हालांकि, पश्चिम बंगाल में हवा की रफ्तार ओडिशा के मुकाबले कम है. ओडिशा में बालासोर व भद्रक से डेढ़ लाख लोगों को उनके निवास स्थान से हटा दिया गया है और उन्हें सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है. इसके अलावा पश्चिम बंगाल में समुद्र के किनारे रहने वाले 3.3 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है.


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

विस्फोटक कार को लेकर बड़ा खुलासा, कार पर लगी हुई थी बाइक की नंबर प्लेट

जम्मू कश्मीर में पुलवामा आतंकी हमले जैसी साजिश नाकाम हुई है। पुलवामा ने जिस सैंट्रो कार से भारी मात्रा विस्फोटक बरामद हुआ...

BJP के इस बड़े नेता में दिखे कोरोना के लक्षण, अस्पताल में किया भर्ती

पूरी दुनिया कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रही है। भारत में भी कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। देश में अब...

सुप्रीम कोर्ट का प्रवासी मजदूरों को लेकर बड़ा आदेश, “किसी भी मजदूर से ना…”

लॉकडाउन में फंसे मजदूरों को उनके घर पहुंचाने का संघर्ष लगातार जारी है। लेकिन इसी बीच कई प्रवासी मजदूर हादसे का शिकार भी...

सोनिया गांधी ने VIDEO संदेश जारी कर केंद्र सरकार को दिए सुझाव, देखें वीडियो

देश में कोरोना के संक्रमण को बढ़ने से रोकने के लिए मोदी सरकार ने देश में लॉकडाउन लागू किया है। हाल ही में...

Recent Comments