india

कोरोना काल में भी PAK की नीच हरकत, सिर्फ मुसलमानों को ही दे रहा है भोजन, हिन्दूओं को नहीं

जहां एक ओर पूरी दुनिया कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है तो वहीं पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। बता दें कि पाकिस्‍तान में कोरोना काल में भी अल्‍पसंख्‍यकों के साथ भेदभाव हो रहा है। कोरोना वायरस के कारण प्रभावित लोगों में मुस्लिम समुदाय के लोगों को तो राशन दिया जा रहा है, पर हिन्‍दू, ईसाई और अन्‍य धार्मिक अल्‍पसंख्‍यकों के साथ भेदभाव किया जा रहा है। इस ख़बर के सामने आने के बाद अमेरिका ने पाकिस्तान को कड़ी फटकार लगाई है।

धार्मिक स्वतंत्रता पर अमेरिकी आयोग ने पाकिस्‍तान को कड़े शब्दों में कहा है कि वह धार्मिक आस्‍था के कारण लोगों को भोजन और अन्‍य सहायता मुहैया कराने में किसी तरह का भेदभाव न करे। आयोग की ओर से कहा गया है कि आज जबकि कोविड-19 के मामले पूरी दुनिया में बढ़ते जा रहे हैं, पाकिस्‍तान में कुछ समुदाय भूख और अपने परिवारों को स्‍वस्‍थ व सुरक्षित रखने के लिए जूझ रहे हैं, जो पहले से ही हाशिये पर हैं।

अमेरिकी आयोग ने पाकिस्‍तान को कड़ा संदेश देते हुए कहा कि वह किसी के भी साथ आस्‍था के आधार पर भेदभाव न करे। आयोग ने खास तौर पर कराची का जिक्र किया है, जहां बेघर लोगों को मदद के लिए गठित एक गैर-सरकारी संगठन द्वारा हिन्‍दुओं व ईसाई समुदाय के लोगों को यह कहते हुए राशन नहीं मुहैया कराने की बात सामने की बात सामने आई है कि ये सिर्फ मुसलमानों के लिए आरक्षित हैं।

अमेरिका की ओर से यह चेतावनी ऐसे समय में आई है, जबकि इमरान सरकार पर पाकिस्‍तान के कब्‍जे वाले कश्‍मीर (PoK) और गिलगित-बाल्टिस्‍तान क्षेत्र में भी भेदभाव करने का आरोप लग रहा है। पिछले दिनों पीओके और गिलगित-बाल्टिस्‍तान के कार्यकर्ताओं ने भी आरोप लगाया था कि इस क्षेत्र में एक बड़ी आबादी को खतरे में छोड़ दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *