india

क्राइम ब्रांच की मौलाना साद पर बड़ी कार्रवाई, बैंक खातों को किया सीज

कई नोटिस जारी करने के बावजूद भी मरकज का मौलाना साद सामने नहीं आ रहा है। इसी को लेकर दिल्ली क्राइम ब्रांच ने मौलाना साद के प्रति सख्त रवैया अपनाया है। तबलीगी जमात के निजामुद्दीन मरकज के प्रमुख मौलाना साद से लिखित पूछताछ में संतोषप्रद जवाब नहीं मिलने से गुस्साई क्राइम ब्रांच ने गाजियाबाद के एक बैंक में जमात के खातों को सीज कर दिया है।

क्राइम ब्रांच को अंदेशा है कि बैंक ऑफ इंडिया के इन खातों में गलत तरीके से पैसों का लेन-देन हुआ है। इसके पहले बुधवार को क्राइम ब्रांच ने ही मोलाना साद के बेटे से लंबी पूछताछ की थी। सूत्रों का कहना है कि संतोषप्रद जवाब नहीं मिलने पर बैंक खाते सीज करने का कदम उठाया गया।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, मौलाना साद पूछताछ में दिल्ली क्राइम ब्रांच को सहयोग नहीं कर रहा है। इसके विपरीत वह अपने वकील के जरिये भरमाने की कोशिश अलग कर रहा है। बिल्ली-चूहे के इस खेल में मौलाना साद के सामने आने वाले ऑडियो-वीडियो से दिल्ली पुलिस का पारा गर्म हो चुका है। इसीलिए उसने अब निर्णायक कार्रवाई करने की ठान ली है। गाजियाबाद के लाल कुआं के बैंक ऑफ इंडिया में जमात के बैंक खातों को सीज करना इसी की एक कड़ी माना जा रहा है।

दिल्‍ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने मौलाना साद के मंझले बेटे से दो घंटे तक पूछताछ की। मुख्यालय की गतिविधियों में वह ज्यादा सक्रिय है मरकज़ के ओहदेदारों के साथ मीटिंग भी वहीं करता था। पुलिस ने साद के बेटे से मरकज में आने-जाने वालों की व्यवस्था करने वाले 20 कर्मचारियों के बारे में पूछताछ की है। मकरज के 20 ऐसे कर्मचारी हैं, जो यहां आने-जाने वाले जमातियों की व्यवस्था से जुड़े हैं ये सभी केस दर्ज होने के बाद से ही गायब हैं। इन 20 लोगों के बारे में बारे में क्राइम ब्रांच को मरकज आने वाले विदेशी जमातियों के रहने-खाने से लेकर आने-जाने की जिम्मेदारी संभालने वाले ट्रैवल एजेंट से पूछताछ में जानकारी मिली थी। इन 20 लोगों के मोबाइल फोन से लेकर ईमेल आईडी को भी सर्विलांस पर लगाकर महत्वपूर्ण जानकारी क्राइम ब्रांच ने हासिल की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *