health

जानिए…दुनिया में कौन है जिसका कोरोना भी कुछ नहीं बिगाड़ सकता

कोरोना वायरस ने दुनियाभर में कोहराम मचाया हुआ है। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए देश में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन किया है। साथ ही, लोगों को घरों बाहर ना निकलने, किसी से हाथ ना मिलाने, सोशल डिसटेंशिंग का भी ख्याल करने को कहा है। लेकिन आज हम जिसकी बात कर रहे हैं कोरोना जैसी बीमारी भी उसकी कुछ नहीं बिगाड़ पाई।

बता दें कि कोरोना से पीड़ित महिला के सफल डिलिवरी कराने में कामयाबी मिली है। एम्स में 10 डॉक्टरों की टीम ने इस चुनौतीपूर्ण ऑपरेशन को अंजाम दिया। सीजेरियन डिलिवरी के बाद मां और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं। जानकारी के मुताबिक इस प्रेग्नेंट महिला को उनके पति से कोरोना हुआ था। जो एम्स के डॉक्टर हैं। लेकिन जैसे ही यह जानकारी मिली कि एक गर्भवती महिला कोरोना संक्रमित है। तो बस यही सोचने में लग गए कि महिला की डिलिवरी को सफल कैसे बनाया जाए। सबको लग रहा था कि इस डिलिवरी को सफल बनाना आसान नहीं होगा। लेकिन एम्स के गाइनी डिपार्टमेंट के डॉक्टरों ने इस चुनौती को स्वीकार करते हुए तुरंत सिजेरियन डिलिवरी की प्लानिंग की।

जानकारी के मुताबिक, कोरोना पीड़ित महिला की डिलिवरी के लिए खास तैयारियां की गईं। उनके आइसोलेशन वॉर्ड को ही ऑपरेशन थियेटर बनाया गया। प्रेग्नेंट महिला को पर्सनल प्रोटेक्शन किट (पीपीई) किट पहनाई गई। सर्जरी में जितने स्टाफ शामिल थे सभी की प्रोटेक्शन किट दी गई। अगले कुछ दिनों तक भी सावधानी रखी जाएगी। साथ ही इस वॉर्ड का इस्तेमाल अन्य डिलिवरी के लिए नहीं होगा। बच्चे को मां के साथ ही रखा गया है। सतर्कता के साथ ब्रेस्ट फीडिंग करवाई जा रही है। क्योंकि कोरोना पीड़ित गर्भवती महिला हाई रिस्क में होती हैं। वहीं, डॉक्टरों का कहना है कि इसमें कोई दो राय नहीं है कि ऐसे मामलों में प्रीटर्म डिलिवरी का खतरा रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *