india

तबलीगी जमात मामला: 20 देशों के जमातियों के खिलाफ जल्द ही चार्जशीट होगी दाखिल

दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में बड़ी संख्या में तबलीगी जमातियों के इकट्ठे होने के बाद से कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ा है। ताजा जानकारी के मुताबिक, मामले में दिल्ली पुलिस अब जल्द ही 20 देशों के 83 विदेशी नागरिकों के खिलाफ साकेत कोर्ट में पहली चार्जशीट दाखिल कर सकती है। यह चार्जशीट, फॉरेन एक्ट और वीजा नियमों के उल्लंघन के मामले में होगी। 

जानकारी के मुताबिक, जिन 83 विदेशी नागरिकों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की जाएगी उनमें सऊदी अरब के 10, चीन के 7, फिलिपिंस के 6, ब्राजील के 8, रूस का एक और बाकी अन्य देशों के नागिरक बताए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि इन सभी के वीजा फार्म में निजामुद्दीन मरकज का पता दिया हुआ है। इसके आधार पर यह माना जा रहा है कि ये विदेश से मरकज में जमात में ही शामिल होने आए थे। सभी विदेशी जमातियों को पहले 41 का नोटिस देकर जांच में शामिल करवाया गया था और पूछताछ की गई थी।

दरअसल, क्राइम ब्रांच विदेशी जमातियों के बयान दर्ज कर रही क्वारंटाइन सेंटर में रखे गए विदेशी जमातियों को भी नोटिस देकर उनके पासपोर्ट, वीजा सहित अन्य जरूरी दस्तावेजों की जांच की जा रही है। क्राइम ब्रांच इनके बयान भी दर्ज कर रही है। विदेशों से आए 916 जमातियों को राजधानी के विभिन्न क्वारंटाइन सेंटर में खा गया है। क्राइम ब्रांच का विदेशी जमातियों से पूछताछ का मकसद यह है कि इन्होंने किस तरह से वीजा नियमों में गड़बड़ी की। विदेशी जमातियों से एक-एक कर पूछताछ करने के बाद क्राइम ब्रांच उनके बयान दर्ज किए हैं। दरअसल, क्राइम ब्रांच इनके दस्तावेजों की जांच कर और इनसे पूछताछ कर यह पता लगाना चाहती है कि आखिरकार इन्होंने किस आधार पर वीजा हासिल किया।

क्राइम ब्रांच की जांच में खुलासा हुआ है कि निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज में चीन समेत 67 देशों से 2041 विदेशी आए थे। इनमें से इंडोनेशिया के 553, बांग्लादेश के 497, थाईलैंड के 151, किरगिस्तान के 145 और मलेशिया के 118 लोग शामिल हैं। इसके अलावा अन्य 62 देशों से 577 लोग शामिल हैं। क्राइम ब्रांच ने दो बार मरकज के मौलाना साद के घर और शामली स्थित फार्म हाउस पर छापेमारी की। कुल 47 लोगों से पूछताछ की गई और 40 लोगों के बयान दर्ज किए गए हैं। जमात मुख्यालय समेत 11 बैंक खाते, 18 फोन और मौलाना के छह करीबी लोगों से पूछताछ। हवाला नेटवर्क से जुड़े पांच लोगों, एक ट्रस्ट के तीन लोगों और जमातियों को बाहर भेजने वाले नौ टूर एंड ट्रैवल्स एजेंड से पूछताछ की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *