india

दिल्ली: कल से फिर पटरी पर दौड़ेगी मेट्रो, यात्रा करने से पहले जान ले ये नए नियम

कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए दिल्ली में पिछले 169 दिनों से मेट्रो सेवा बंद है। लेकिन 7 सितंबर यानि कल से दिल्ली में एक बार फिर मेट्रो सेवा की शुरुआत होने जा रही है। हालांकि, फिलहाल यह शुरुआत केवल येलो लाइन (समयपुर बादली से हुडा सिटी सेंटर) पर हो रही है। पांच दिनों के बाद यानी कि 12 सितंबर से बाकी रूट पर भी सभी सुरक्षा मानकों का ख्याल रखते हुए मेट्रो सेवा ऑपरेशनल होगी। मेट्रो परिसर में घुसने के लिए सभी लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क और हैंड सैनिटाइजेशन जैसी प्रक्रियाओं का ख्याल रखना होगा।

सोमवार और मंगलवार को 49 किलोमीटर के येलो लाइन पर मेट्रो रेल चलाई जाएगी। इस रूट पर कुल 37 स्टेशन हैं, जिसमें 20 स्टेशन अंडरग्राउंड है जबकि 17 एलवेटिड यानी की ऊंचाई पर है। इस रूट पर मेट्रो रेल सुबह सात से ग्यारह बजे तक और शाम को चार से आठ बजे तक के लिए ऑपरेशनल होगा। यानी कि 4 घंटे सुबह और 4 घंटे शाम।

दिल्ली मेट्रो सेवा मौजूदा हालात को नया सामान्य मानते हुए शुरू किया जा रहा है और यह अपेक्षा की जा रही है कि यात्री भी नए तरीके से साफ-सफाई और सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए यात्रा करने में डीएमआरसी (दिल्ली मेट्रो रेल निगम) की मदद करेंगे। मेट्रो स्टेशन पर सुव्यवस्था और सोशल डिस्टेंसिंग को देखते हुए यात्रियों की भीड़ को नियंत्रित रखने के लिए केवल एक या दो एंट्री और एग्जिट गेट ही खोले जाएंगे। इसलिए डीएमआरसी ने सभी यात्रियों से पहले ही www.delhimetrorail.com पर जाकर निर्धारित गेट संख्या चेक करने को कहा है।

डीएमआरसी की तरफ से कुछ जरूरी बातें बताई गई हैं। मसलन सभी स्टेशनों पर रेगुलर फ्रंटलाइन स्टाफ तो रहेंगे ही, साथ ही 1000 अतिरिक्त अधिकारियों और स्टाफ की इस रूट पर तैनाती होगी, जो लोगों को मेट्रो परिसर में घुसने और यात्रा के नए नियम समझा सकेंगे। साथ ही सभी यात्रियों से अपील की गई है कि वो भी स्टेशन परिसर में या मेट्रो के अंदर सभी जरूरी गाइडलाइन को ध्यान से सुनें।

पहले के मुकाबले अब दिल्ली मेट्रो में यात्रियों की संख्या 20 प्रतिशत कम की गई है। जिससे कि सोशल डिस्टेंसिंग जैसी जरूरी गाइडलाइन को ठीक से फॉलो किया जा सके। इसलिए यात्रियों को भी कुछ जरूरी सलाह जी गई है। बेवजह मेट्रो में यात्रा ना करें। इसके अलावा यात्रा करते हुए आपस में बात नहीं करने को भी कहा गया है। सभी यात्रियों को 15-30 मिनट तक का एक्स्ट्रा टाइम लेकर यात्रा करने को कहा गया है। जिससे वो अपने गंतव्य स्थलों पर समय से पहुंच सकें।

सभी यात्रियों से अपने मोबाइल सेट पर ‘आरोग्य सेतु’ ऐप डाउनलोड कर रखने को कहा गया है। यात्रियों को स्मार्ट कार्ड लेकर यात्रा करने को कहा गया है। स्टेशन पर टोकन उपलब्ध नहीं होंगे। किसी भी तरह का कैश ट्रांसेक्शन अलाउड नहीं होगा। लोगों से यात्रा के दौरान कम से कम सामान कैरी करने को कहा गया है। सैनिटाइजर पॉकेट साइज का ही होना चाहिए। सुरक्षा कारणों से मेट्रो परिसर के अंदर 30 मिली लीटर से ज्यादा सैनिटाइजर ले जाने की अनुमति नहीं होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *