india

दिल्ली: केजरीवाल सरकार ने लॉकडाउन 5.0 के लिए जारी की नई गाइडलाइन, जनता से मांगे सुझाव

केंद्र सरकार ने शनिवार को लॉकडाउन 5.0 का ऐलान कर नई गाइडलाइन जारी की। साथ ही राज्य सरकारों को अपने हिसाब से राज्य के लिए फैसला लेने को कहा है। योगी सरकार ने बाद अब राजधानी दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने लॉकडाउन 5.0 के लिए नई गाइडलाउन जारी की हैं। साथ ही दिल्ली बॉर्डर को एक हफ्ते के लिए सील कर दिया है और नंबर जारी कर जनता से सुझाव भी मांगे हैं।  

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए ये फैसला लिया गया है। बता दें कि दिल्ली सीएम का ये फैसला तब आया है, जब नोएडा-गाजियाबाद जैसे शहरों ने पहले ही दिल्ली से सटे बॉर्डर को बंद कर रखा है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिल्ली के मुख्यमंत्री ने लॉकडाउन 5 से जुड़ी रियायतों का ऐलान किया। लेकिन सबसे बड़ा फैसला दिल्ली के बॉर्डर को सील करने का रहा। अरविंद केजरीवाल ने इसको लेकर जनता से सुझाव भी मांगे हैं, जो शुक्रवार की शाम पांच बजे तक भेजे जा सकते हैं।

दिल्ली सरकार की ओर से सुझाव के लिए ये नंबर जारी किए गए हैं…

• 8800007722

• 1031

• Delhicm.suggestions@gmail.com

सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के लोगों से सुझाव मांगा है कि क्या दिल्ली के अस्पतालों में सिर्फ दिल्ली में रहने वाले लोगों को ही इलाज की इजाजत दी जाए? अरविंद केजरीवाल ने कहा कि बॉर्डर खुलने के कारण दूसरे राज्यों से लोग यहां इलाज के लिए आते हैं, लेकिन अब कोरोना के केस बढ़ रहे हैं तो इस तरह की मांग सामने आ रही है। हालांकि, इसपर किसी तरह का फैसला लोगों के सुझाव आने के बाद ही लिया जाएगा।

लॉकडाउन 5.0 के लिए दिल्ली सरकार की गाइडलाइन

1. लॉकडाउन 4 में जो छूट दी गई थी, वो जारी रहेगी।

2. सैलून की दुकानें खुलेंगी।

3. ऑटो, ग्रामीण सेवा में अब पूरा परिवार यात्रा कर सकता है।

4. बाजार में अब सारी दुकानें खुलेंगी, ऑड ईवन की जरूरत नहीं।

5. दिल्ली के बॉर्डर खोलने पर लोगों से सुझाव मांगे।

6. एक हफ्ते के लिए सभी बॉर्डर को सील किया गया।

बता दें कि लॉकडाउन 5 यानी अनलॉक 1 के तहत गृह मंत्रालय ने एक राज्य से दूसरे राज्य जाने की पूरी छूट दी है। लेकिन अंतिम फैसला राज्य सरकारें ही ले रही हैं। नोएडा, गाजियाबाद ने दिल्ली से सटे बॉर्डर को बंद रखा है, वहीं गुरुग्राम ने काफी वक्त के बाद इसे खोला है। लेकिन अब दिल्ली ने ही सारे बॉर्डर सील कर दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *