india

दिल्ली सरकार ने टिड्डियों को भागने के लिए निकाला अनोखा तरीका

दिल्ली में टिड्डियों के हमले के खतरे को देखते हुए बुलाई गई आपात बैठक के बाद दिल्ली सरकार ने इससे जुड़ी एडवाइजरी जारी की है। एडवाइजरी में दिल्ली के सभी जिलों के डीएम को हाई अलर्ट पर रहने को कहा गया है, साथ ही दमकल विभाग के साथ को-ऑर्डिनेट करने का निर्देश दिया गया है, ताकि कीटनाशक के छिड़काव की व्यवस्था की जा सके।

इसके साथ ही सभी डीएम को गांव में पर्याप्त संख्या में स्टाफ की तैनाती का निर्देश दिया गया है, ताकि गांववालों को मुनादी और अन्य तरीकों से टिड्डियों का ध्यान भटकाने के उपाय समझाए जा सकें जैसे, हाई डेसिबल साउंड यानी ड्रम बजाना, बर्तन बजाना, ऊंची आवाज में संगीत बजाना, पटाखे जलाना, नीम की पत्तियां जलाना और इसी तरह की अन्य उपायों के जरिए टिड्डियों को हटाया जा सके।

इसके साथ ही एडवाइजरी में अन्य उपाय भी बताए गए हैं-

  • दरवाजे और खिड़कियां बंद रखें।
  • बाहर रखे पौधों को प्लास्टिक शीट से कवर करें।
  • टिड्डियां आमतौर पर दिन के समय उड़ती हैं और रात के समय आराम करती हैं, रात को आराम करने का मौका न दिया जाए।
  • मैलाथियान और क्लोरोपाइरीफॉस का रात में छिड़काव लाभप्रद है। सुरक्षा के लिहाज से PPE किट पहनकर रात में इसका छिड़काव किया जाए।

वहीं, दिल्ली एयरपोर्ट पर परिचालन सामान्य है। एयपोर्ट के आस-पास के क्षेत्र टिड्डी के हमले से प्रभावित नहीं हुए हैं। फिर भी एटीसी ने पायलटों को हाई अलर्ट पर रहने के लिए एडवाइजरी जारी की है। बता दें कि एक तरफ जहां देश की राजधानी दिल्ली कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित है, तो वहीं अब यहां टिड्डियों का आतंक भी देखने को मिल सकता है। जानकारी के मुताबिक, टिड्डियों का बड़ा दल पलवल की तरफ जा रहा है, जिसमें से एक छोटी सी टुकड़ी दिल्ली के बॉर्डर इलाके जसोला और भाटी की तरफ मुड़ गई है।

आपातकाल बैठक में दिल्ली के साउथ, वेस्ट और साउथ वेस्ट जिले के डीएम को हाई अलर्ट रहने को कहा गया है। उन्हें तैयारी शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं। हवाओं का रुख साउथ दिल्ली की तरफ ज्यादा है। अगर हवा का रुख बदलता है, तो दिल्ली की तरफ टिड्डियों का आना हो सकता है, इसलिए हर पहलू को मॉनिटर किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *