Cricket

धोनी के संन्यास पर PM ने लिखा इमोशनल खत, तो माही ने भी दिया ये जवाब

महेंद्र सिंह धोनी ने 15 अगस्त की शाम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने का ऐलान किया। धोनी ने अपने इंस्टाग्राम पर लिखा किअब तक आपके प्यार और सहयोग के लिए धन्यवाद। शाम 07:29 मिनट से मुझे रिटायर्ड समझिए।’ धोनी के इस पोस्ट के बाद सभी उनको शुभकामनाएं दे रहे हैं। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने धोनी को एक खत लिखकर बधाई दी। धोनी ने इस खत के जवाब में पीएम मोदी का शुक्रिया अदा किया है।

महेंद्र सिंह धोनी ने ट्वीट करते हुए लिखा,एक कलाकार, सैनिक और खिलाड़ी को प्रशंसा की ही भूख होती है। वे चाहते हैं कि उनकी कड़ी मेहनत और बलिदान को सभी पहचानें और उसकी तारीफ करें। शुक्रिया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, आपकी ओर से मिली प्रशंसा और शुभकामनाओं के लिए।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने धोनी को लंबा पत्र लिखते हुए कहा कि 15 अगस्त को अपने ट्रेडमार्क बेबाक शैली में आपने एक छोटा वीडियो साझा किया, जो पूरे देश के लिए एक लंबी और भावुक चर्चा का विषय बनने के लिए पर्याप्त था। 130 करोड़ भारतीय निराश थे, लेकिन दिल से आपके आभारी भी हैं, उस सब के लिए जो आपने पिछले डेढ़ दशक में भारतीय क्रिकेट के लिए किया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पत्र में लिखा,”आप नए भारत की भावना के महत्वपूर्ण उदाहरणों में से एक हैं, जिसमें युवाओं की तकदीर परिवार के नाम से नहीं लिखी जाती। वे खुद अपना नाम और भाग्य बनाते हैं। उन्होंने लिखा कि यह मायने नहीं रखता कि हम कहां से जाते हैं जब तक हमें यह पता हो कि हमें कहां जाना है। आपने यह जज्बा दिखाया है और इसके साथ कई युवाओं को प्रेरित किया।

मोदी ने यह भी लिखा कि सिर्फ एक खिलाड़ी के तौर पर धोनी का आकलन अन्याय होगा, क्योंकि उनका प्रभाव असाधारण रहा है। उन्होंने लिखा, ”महेंद्र सिंह धोनी नाम सिर्फ आंकड़ों या मैच जिताने में भूमिकाओं के लिए याद नहीं रखा जायेगा। सिर्फ एक खिलाड़ी के तौर पर उनका आकलन ज्यादती होगी।”

 प्रधानमंत्री ने लंबे पत्र में धोनी के शांतचित्त रवैये की भी तारीफ की। उन्होंने कहा, ”इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपकी हेयरस्टाइल क्या है। आपका शांत रवैया हार और जीत में समान रहा जो हर युवा के लिए काफी अहम है।” धोनी अपने करियर में अलग अलग हेयरकट के लिए भी विख्यात रहे हैं। शुरुआती दौर में उनके लंबे बाल हुआ करते थे, जिसकी एक समय पाकिस्तान के तत्कालीन राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने भी तारीफ की थी।

उन्हें दुनिया के सर्वश्रेष्ठ कप्तानों और विकेटकीपरों में शामिल करते हुए मोदी ने कहा, ”कठिन परिस्थितियों में आप भरोसेमंद साबित हुए और मैच को जीत तक ले जाने की आपकी शैली लोगों की यादों में पीढियों तक रहेगी, खासकर 2011 विश्व कप फाइनल।”  उन्होंने लिखा, ”एक छोटे शहर के साधारण परिवार से आने के बाद आप राष्ट्रीय स्तर पर चमके और अपना नाम रोशन करने के साथ भारत को गौरवान्वित किया जो सबसे महत्वपूर्ण है।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि धोनी की कामयाबी और व्यवहार करोड़ों युवाओं को ताकत और प्रेरणा देता है जो उनकी तरह बड़े स्कूलों या कॉलेजों में नहीं पढ़ें या बड़े परिवारों से नहीं है लेकिन उनमें इतनी प्रतिभा है कि उच्चतम स्तर पर अलग पहचान बना सकें। मोदी ने उन्हें भविष्य के लिए शुभकामना भी दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *