News

नेपाल के PM ने भारत पर लगाया बड़ा आरोप, कहा- “भारत मेरी सरकार गिराना चाहता है”

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने भारत पर बड़ा आरोप लगाया है। ओली ने भारत पर अपनी सरकार गिराने का आरोप लगाया है। ओली ने कहा कि नई दिल्ली की मीडिया में होने वाली बौद्धिक बहस, काठमांडू स्थित भारतीय दूतावास की सक्रियता और होटलों में हो रही गतिविधियां दिखा रही हैं कि भारत का पूरा संयंत्र लगा हुआ है। ओली ने एक और गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि इससे पहले जब उन्होंने अपने पिछले कार्यकाल में चीन के साथ ट्रेड‌ एंड ट्रांजिट समझौते पर हस्ताक्षर किए थे, तो उनकी सरकार गिरा दी गई थी, लेकिन अब हमारे पास बहुमत हैय़ बता दें कि उस समय भी केपी ओली का गठबंधन ‌प्रचंड के साथ था और प्रचंड ने अपना समर्थन वापस ले लिया था, इसलिए उनकी सरकार गिर गई थी।

ओली ने अपने संबोधन में कहा कि बहुत से नेपाल नेके नेताओं ने मुझसे कहा कि अपनी जमीन को समेटते हुए जो नक्शा छापा है वह बहुत बड़ी भूल है, ऐसा दिखाया जा रहा है जैसे मैंने कोई बड़ा अपराध कर दिया हो। नेपाल के जननेता मदन भंडारी की 69वीं जयंती के अवसर पर प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने कहा कि भले ही उन्हें पद से हटाने का खेल शुरू हो लेकिन यह असंभव है। प्रधानमंत्री ओली ने दावा किया था कि काठमांडू के एक होटल में उन्हें हटाने के लिए बैठकें की जा रही है और इसमें एक दूतावास भी सक्रिय है। बता दें कि ओली का इशारा भारत की तरफ है।

ओली ने कहा कि मैं प्रधानमंत्री पद पर बैठे रहना नहीं चाहता, लेकिन अगर मैं इस समय हटता हूं या मेरी सरकार गिरा दी जाती है, तो नेपाल के पक्ष में बोलने के लिए फिर कोई व्यक्ति हिम्मत नहीं करेगा। आज के लिए नहीं बल्कि कल के लिए, अपने लिए नहीं बल्कि देश के लिए भी इस सरकार का टिके रहना जरूरी है।

ओली ने कहा कि नेपाल अब तक सिर्फ भारत पर ही आश्रित था। हम कहने के लिए तीन ओर से भारत से घिरे हैं, लेकिन दरअसल चारों ओर से ही घिरे नजर आ रहे हैं। नेपाल भूपरिवेष्ठित देश नहीं, बल्कि भारत पर आश्रित देश था, जिसके लिए मैंने चीन के दरवाजे खोल दिए। नेपाल की भूमि पर भारत का कब्जा है। भारत ने हमारे लोगों को राशन कार्ड दे दिया है, सुविधाएं दी है और सेना लगाकर हमें हमारी जमीन पर नहीं जाने दिया गया और यहां पर कुछ लोग पॉकेट में नेपाल की नागरिकता रखकर भारत की तरफदारी कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *