india

पंचतत्वों में विलीन हुए “प्रणब दा”, राजकीय सम्मान के साथ किया गया अंतिम संस्कार

देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का सोमवार की शाम निधन हो गया। आज पूरे राजकीय सम्मान के साथ दिल्ली के लोधी रोड स्थित श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार किया गया। इस मौके पर उनके बेटे अभिजीत मुखर्जी और परिवार के बाकी सदस्य पीपीई किट पहने हुए नजर आएं। इससे पहले उनके पार्थिव शरीर को 10, राजाजी मार्ग स्थित उनके सरकारी आवास पर लाया गया, जहां उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत कई नेताओं ने श्रद्धांजलि दी। मोदी कैबिनेट की बैठक में भी प्रणब दा को श्रद्धांजलि दी गई।

केंद्र सरकार ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन पर सोमवार को सात दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है। केंद्रीय कैबिनेट ने आज दो मिनट का मौन रखकर पूर्व राष्ट्रपति के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। उनके सम्मान में भारत में 31 अगस्त से लेकर 6 सितंबर तक राजकीय शोक रहेगा।

आपको बता दें कि सोमवार की शाम निधन हो गया था। वह 84 वर्ष के थे। प्रणब मुखर्जी को पिछले 10 अगस्त को सेना के ‘रिसर्च एंड रेफ्रल हास्पिटल’ में भर्ती कराया गया था। उसी दिन उनके मस्तिष्क की सर्जरी की गई थी। उसके बाद वह काफी दिनों तक सेना के अस्पताल में कोमा में थे। मुखर्जी को बाद में फेफड़ों में संक्रमण हो गया। वह 2012 से 2017 तक देश के 13वें राष्ट्रपति थे। वो कोरोना वायरस से भी पीड़ित थे। उनके निधन के बाद केंद्र सरकार और कई राज्य सरकारों ने सात दिनों के आधिकारिक शोक दिवस की घोषणा की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *