Cricket

पालघर साधू हत्याकांड मामले पर इरफान पठान ने किया ट्वीट, यूजर्स ने इरफान को दी पाकिस्तान जाने की नसीहत

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए पूरे देश में लॉकडाउन घोषित किया गया है। इसी लॉकडाउन में महाराष्ट्र के पालघर जिले में ग्रामीणों के एक समूह ने चोर होने के संदेह पर तीन लोगों को कार से बाहर खींच पीट-पीटकर उनकी हत्या कर दी थी। इसमें से तीन साधु थे एक ड्राइवर शामिल था। बताया जाता है कि तीनों किसी अंत्येष्टि में शामिल होने मुंबई से गुजरात के सूरत जा रहे थे। सूचना मिलने पर पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे, लेकिन साधुओं को बचाया नहीं जा सका। इतना ही नहीं उपद्रवियों ने पुलिस की गाड़ी में भी तोड़फोड़ की। लेकिन अब मामले को तूल पकड़ता देख चारों ओर से प्रतिक्रिया आना भी शुरू हो गई हैं। भारतीय टीम के पूर्व तेज गेंदबाज इरफान पठान ने भी मामले को लेकर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है।  इस पर अपनी बात रखी है।

इरफान पठान ने घटना पर दुख जताते हुए ट्वीट कर लिखा कि पालघर मॉब लिंचिंग की तस्वीरें देखकर बहुत दुख हुआ। काफी भयनाक बर्बर, शर्मनाक। बता दें कि इससे पहले भी इरफान पठान ने एक ट्वीट किया था, जिसमें लिखा था कि मान लीजिए, अगर धर्म के मुद्दे पीछे रह जाएं तो सबसे बात करने के लिए सबसे बड़ा मुद्दा क्याट हो सकता है। शायद रोजगार, विकास, खेल, सिनेमा, दान, जिंदगी, भारत को नंबर वन बनाना।

वहीं, इरफान पठान के इस ट्वीट पर अब सवाल उठने लगे हैं। जिसमें उन्होंने कहा गया था कि वे कुछ ज्वेलंत मुद्दों पर अपनी बात क्यों नहीं रखते हैं। यहां तक कि कुछ लोगों ने तो उन्हेंग पाकिस्ताउन जाने तक की सलाह दे डाली थी। इसको इरफान पठान ने हल्केन अंदाज में लिया हंसकर बात को टाल दिया था। उसके बाद इरफान पठान ने ये ट्वीट किया है। अब जो ट्वीट इरफान पठान ने किया है, उस पर लोग इस ट्वीट का सही करार दे रहे हैं, कहा जा रहा है कि चलो इरफान पठान ने इस मुद्दे पर भी अपनी बात कम से कम रखी तो सही।

आपको बता दें कि घटना के बाद अब महाराष्ट्र सरकार ने भी तेजी दिखाई है। महाराष्ट्र मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से किए गए ट्वीट में कहा गया, ‘पालघर की घटना पर कार्रवाई की गई है। जिन्होंने 2 साधुओं, एक ड्राइवर पुलिसकर्मियों पर हमला किया था, पुलिस ने घटना के दिन ही उन सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *