Home india भारत की छवि खराब करने के लिए डोनाल्ड ट्रंप के सामने रची...

भारत की छवि खराब करने के लिए डोनाल्ड ट्रंप के सामने रची गई हिंसा की साजिश!




उत्तरर पूर्वी दिल्ली- में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में जमकर हिंसा हो रही है। इस हिंसा के बीच गृह मंत्रालय का बड़ा बयान सामने आया है। गृह मंत्रालय ने आशंका जताई है कि यह हिंसा अमेरिकी राष्ट्रकपति डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा के दौरे को ध्यािन में रखकर की गई। इसके जरिए सुनियोजित तरीके से ट्रंप के सामने भारत की खराब छवि पेश करने की साजिश रची गई। गृह मंत्रालय और दिल्लीर पुलिस कमिश्ननर घटना पर ध्यािन रखे हुए हैं और जल्द ही स्थिीति नियंत्रण में होगी। दिल्लीा पुलिस कमिश्न र कंट्रोल से स्थिलति पर नजर रखे हुए हैं।

किशन रेड्डी ने कहा कि उत्तेर पूर्वी दिल्ली में हिंसा अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दौरे को ध्याुन में रखकर सुनियोजित तरीके से रची गई। मैं इसकी निंदा करता हूं। सरकार इस प्रकार की हिंसा को बर्दाश्तत नहीं करेगी। इसके लिए जो दोषी हैं, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। गृह मंत्रालय उन पर नजर रखे हुए है। वहां पर अतिरिक्ती पुलिस बल को तैनात किया गया है। हमारी मुख्यै प्राथिमकता दिल्लीु में कानून व्य वस्था् बनाए रखने को लेकर है। गृह मंत्रालय ने उन लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने को कहा है जो पुलिसकर्मी की हत्याउ, पत्थररबाजी और संपत्तिव में आग लगाने के लिए दोषी हैं।

किशन रेड्डी ने आगे कहा कि राहुल गांधी, कांग्रेस पार्टी और सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों को बताना चाहिए कि भारत की छवि को नुकसान पहुंचाने के लिए कौन जिम्मेदार है? उत्तकर पूर्व दिल्लीम में हिंसा को लेकर केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्लाे ने कहा कि वरिष्ठो अधिकारी मौके पर हैं। वहां पर्याप्तस सुरक्षा बल तैनात कर दिया गया है। स्थि ति नियंत्रण में है।

जाफराबाद और मौजपुर में हिंसा की खबरों पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि दिल्ली के एक हिस्से से शांति और सदभाव को नुकसान पहुंचाने वाली चिंताजनक खबर आ रही है। मैं लेफ्टिनेंट गर्वनर और गृह मंत्री से कानून-व्यवस्था की स्थिति बहाल करने की अपील करता हूं। उत्पात मचाने को किसी को अनुमति नहीं दी जाएगी।




महिलाओं ने मेट्रो स्टे शन पर शुरू किया प्रदर्शन
जाफराबाद में सीएए के विरोध में डेढ़ माह से सड़क किनारे टेंट लगाकर महिलाएं प्रदर्शन कर रही थीं। शनिवार रात उन्होंने जाफराबाद रोड को बंद कर दिया। रविवार सुबह पुलिस अधिकारियों ने प्रदर्शनकारियों से बातचीत कर मौजपुर से सीलमपुर जाने वाले एक रास्ते को खुलवा दिया, लेकिन सीलमपुर से मौजपुर जाने वाला मार्ग बंद रहा। इस बीच प्रदर्शनकारी जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के नीचे धरने पर बैठे रहे।

रविवार दोपहर करीब तीन बजे यहां से लगभग 500 मीटर दूर बीजेपी नेता कपिल मिश्रा, पार्षद कुसुम तोमर और अन्य समर्थकों के साथ मौजपुर लाल बत्ती पर सीएए के समर्थन में धरने पर बैठ गए। इस दौरान करीब 100 मीटर दूर मौजपुर तिराहे पर कबीर नगर और कर्दमपुरी से लोग जुटने लगे। उन्होंने सीएए के विरोध में आजादी के नारे लगाने शुरू कर दिए। इस बीच कपिल मिश्रा के धरने पर पथराव किया गया तो कपिल मिश्रा के समर्थन में बाबरपुर- मौजपुर से लोग जुटने लगे। देखते-देखते दोनों पक्षों में पथराव शुरू हो गया। यमुनापार के कई इलाके रविवार को दिनभर सुलगते रहे। इसमें जाफराबाद, मौजपुर, बाबरपुर, करावल नगर प्रमुख थे। यहां CAA विरोधी और समर्थक आमने-सामने आ गए थे। इससे वहां पथराव और हिंसा हुई।

सोमवार को भी जारी रही हिंसा
दिल्ली के विभिन्न इलाकों में सोमवार को भी प्रदर्शन जारी रही। जाफराबाद रोड, भजनपुरा और मौजपुर में हिंसक प्रदर्शन के दौरान दो घरों में आग लगा दी और एक पेट्रोल पंप को फूंक डाला। हिंसा के चलते एक पुलिसकर्मी रतन लाल की मौत हो गई है, जबकि डीसीपी समेत कई अन्य घायल हैं। मौजपुर हिंसा के दौरान करीब 37 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। शाहदरा डीसीपी अमित शर्मा के सिर में गहरी चोट आई है। ACP गोकुलपुरी को भी भर्ती कराया गया है। हिंसक प्रदर्शनों के चलते उत्तर-पूर्वी जिले के 10 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगाया गया




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

सरकार अब कोरोना वायरस के खिलाफ डिजिटल मोर्चे पर लड़ेगी लड़ाई

दुनिया भर में कोरोना वायरस ने तबाही मचाई हुई है। दुनिया का सबसे ताकतवर देश अमेरिका भी इसके आगे घुटने टेकता नज़र आ...

नर्सों के साथ अभद्रता मामले को लेकर बोले CM योगी आदित्यनाथ, कहा-‘हम इन्हें छोड़ेंगे नहीं’

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने कड़े फैसलों के लिए जाने जाते हैं। हाल ही में गाजियाबाद के एमएमजी अस्पताल की नर्सों...

कोरोना वायरस: आखिर…अमेरिका ने ऐसी कौन-सी गलती कर दी, जिससे 2 लाख लोगों की हो सकती है मौत

दुनियाभर में कोरोना वायरस से संक्रमण लोगों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है। दुनिया का सबसे ताकतवर कहा जाने वाला देश...

तबलीगी जमात मामले को लेकर नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने कही ये बड़ी बातें…तो फराह खान ने भी दी प्रतिक्रिया

देश भर में लॉकडाउन के बीच दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज का मामला सामने आने के बाद हड़कंप मच गया...

Recent Comments