india

महिला पत्रकार ने की खुदकुशी, बोर्ड पर लिखा इस नेता का नाम…

उत्तर प्रदेश की एक स्वतंत्र पत्रकार रिजवाना तबस्सुम अपने कमरे में मृत मिलीं। पुलिस को जब इसकी सूचना दी गई तो पुलिस ने घर का दरवाजा तोड़कर देखा तो रिजवाना की लाश बरामद हुई। पुलिस ने बताया कि, उन्होंने रात में आत्महत्या की। रिजवाना ने अपने कमरे में नोटिस बोर्ड पर लिख छोड़ा- ‘शमीम नोमानी जिम्मेदार हैं।’

परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने स्थानीय सपा नेता शमीम नोमानी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है। रिज़वाना तबस्सुम वाराणसी की रहने वाली थीं। उनकी उम्र 25 साल थी। वाराणसी के सीओ सदर अभिषेक कुमार पांडेय का कहना है कि हमें परिवार ने सूचना दी थी। तब पुलिस उनके घर पहुंची। रिजवाना के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया है। परिजनों ने जो तहरीर दी है, उसी के आधार पर मुकदमा लिखा गया है। आरोपी की गिरफ्तारी के लिए कार्रवाई शुरू कर दी गई है। साथ ही मामले की तह तक जाने के लिए जांच भी की जा रही है।

जानकारी के मुताबिक, पुलिस ने रिजवाना के परिजनों की शिकायत पर बनारस के लोहता थाने में स्थानीय नेता शमीम नोमानी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। वह अपने छह भाई-बहनों में से बहनों में सबसे बड़ी थी। विगत कई वर्षों से पत्रकारिता में सक्रिय तबस्सुम ने बतौर स्वतंत्र पत्रकार अपनी छाप छोड़ी। खबर लहरिया जैसे न्यूज़ चैनल और अन्य न्यूज़ पेपर के लिए राइटिंग का काम किया करती थीं। वह द् प्रिंट के लिए भी लिखती थीं। रिजवाना के पिता ने बताया कि जब बेटी को घर में आवाज दी तो उसने जवाब नहीं दिया। हमें शंका हुई, तो हमलोग कमरे का दरवाजा तोड़कर अंदर गए तो देखा कि उसने खुदकुशी कर ली थी। उसने नोट में लिखा था कि मेरी मौत का जिम्मेदार शमीम नोमानी है। शमीम नोमानी का हमारे यहां आना-जाना तो नहीं था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *