india

यूपी: CM योगी आदित्यनाथ ने बताया, इन शर्तों के साथ खुल सकता है लॉकडाउन

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए देशभर में लॉकडाउन लगाया हुआ है। इसी कारण ट्रेनें, बसें, हवाई जहाज, टैक्सियां कुछ भी नहीं चल रहा। लेकिन जैसे-जैसे लॉकडाउन की समय सीमा नजदीक आ रही हैं वैसे-वैसे चर्चाएं भी तेज हो रही हैं। इन्हीं सब चर्चाओं को लेकर देश के सबसे बड़े सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों के साथ बैठक की। जिसमें कहा गया लॉकडाउन खुलने का मतलब पूरी छूट नहीं होगा। यूपी सरकार 14 अप्रैल के बाद लोकडाउन हटने की सूरत में कई बन्दिशें बरकरार रखेगी। इसका मकसद अफरातफरी को रोकना व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने का है।

जानकारी के मुताबिक सरकार बेसिक व माध्यमिक स्कूल व कॉलेज आगे भी एक निश्चित अवधि तक बंद रखेगी लेकिन टेक्निकल व व्यवसायिक कॉलेज खोलने की तैयारी है। लॉकडाउन जब खुलेगा तब पहले उन लोगों को आने जाने में तवज्जों दी जाएगी, जो कई दिनों से इधर उधर फंसे हुए हैं। और घर नहीं जा पा रहे हैं। इसके लिए सीमित दायरे में परिवहन सेवा शुरू होगी। बाजार व मंडियों को खोला जाएगा। माल में मल्टीपलेक्स को इस दायरे से बाहर रखने की योजना बन रही है।

सीएम योगी का कहना है कि डीएम व एसपी पहले लॉकडाउन हटाने के बाद के हालात का आकलन अभी कर लें, जिससे बाद की आने वाली मुश्किलों से निपटा जा सके। सरकार का जोर 15 अप्रैल के बाद भी कही भी किसी रूप में भीड़ न लगने देने का है। मौजूदा वक्त की सारी ऐहतियात बाद में भी सख्ती से बरती जाएगी। इसमें समूह में न निकलने से लेकर सैनिटाइजेशन तक शामिल हैं। सरकार पहले उन जिलों से लॉकडाउन हटाएगी, जहां कोरोना वायरस संक्रमण अपेक्षा काफी कम है। इसमे भी वायरस संक्रमण वाले हॉट स्पॉट चिन्हित किए जा रहे हैं।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, तब्लीगी जमात के संक्रिमत लोग कई जिलों में पहुंच चुके हैं और कोरोना वैरियर बन हुए हैं। ऐसे लोगो के कारण खास जिलों या उनके खास इलाको में जांच पूरी होने तक बंदिश रहेगी। सीएम ने पहले 15 जिलो में व बाद में पूरे यूपी में लॉकडाउन का एलान किया। 24 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश भर में इसका ऐलान करते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने को कहा था।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अगर 15 अप्रैल से लॉकडाउन खुलता है तो हालात बहुत चुनौतीपूर्ण होंगे। सभी को इसका पूरा ख्याल रखना जरूरी है। ऐसे में जो जहां फंसा होगा, वहां से आने का प्रयास करेगा। इन हालातों में सोशल डिस्टेंसिंग पर अमल कराना बेहद चुनौतीपूर्ण होगा। इसके लिए अभी से कार्ययोजना तैयार करें। स्कूल, कॉलेज, अलग-अलग तरह के बाजार और मॉल कब और कैसे खुलेंगे इसकी कार्ययोजना तैयार करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *