india

रिटायर नेवी ऑफिसर मारपीट मामला: “पहले शिवसैनिकों ने मुझे बेरहमी से पीटा और फिर…”

पिछले कुछ दिनों से मुंबई में कुछ भी ठीक नहीं है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से जुड़े एक कार्टून को वाट्सएप पर शेयर करना एक रिटायर नेवी ऑफिसर को मंहगा पड़ गया। कुछ शिवसैनिकों ने ऑफिसर की बेहरमी से पिटाई कर दी। जिसके बाद रिटायर ऑफिसर मदन शर्मा ने कहा कि देश में सबको अभिव्यक्ति की आजादी है। सरकार को ऐसी छोटी चीजों की बजाय बड़ी समस्याओं पर ध्यान देना चाहिए। उन्होंने बताया कि पहले शिवसैनिकों ने मारपीट की और फिर बाद में घर पर पुलिस भी भेजी गई। इस बीच गिरफ्तार किए गए 6 आरोपियों को जमानत भी मिल गई है।

मुंबई के समता नगर में हिंसा का शिकार हुए नौसेना के रिटायर्ड अधिकारी मदन शर्मा ने बता कि, ‘देश में सबको अभिव्यक्ति की आजादी है। वॉट्सऐप सबके साथ जुड़े रहने का एक माध्यम है। कोई भी मेसेज या कार्टून कहां से बनता है, सरकार को उस पर ध्यान देना जरूरी है। वॉट्सऐप पर एक कार्टून को मैंने ग्रुप में शेयर किया। इसके बाद शिवसेना के कुछ लोगों ने मुझे फोन कर गेट पर बातचीत के लिए बुलाया। मैं गेट पर गया तो वहां कोई बातचीत नहीं की गई, बल्कि मारपीट की गई।’

पीड़ित अधिकारी ने कंगना रनौत के बयान का समर्थन करते हुए कहा कि ‘मुंबई में पिछले काफी दिनों से लगातार शिवसेना की तरफ से ऐसी घटना हो रही है। मैंने देश की सेवा में जिंदगी गुजारी है। किसी राज्य के लिए नहीं। शिवसैनिकों ने मेरे साथ मारपीट की। इसके बाद मेरे घर पर पुलिस को भी भेजा गया। बिना किसी बातचीत के ही मारपीट शुरू कर दी गई।’

हॉस्पिटल में इलाज करा रहे 65 साल के मदन शर्मा ने बीजेपी या अन्य किसी संगठन के साथ जुड़ाव को सिरे से खारिज किया। वह अभी हॉस्पिटल में भर्ती हैं। हालत में सुधार है। उनकी बेटी शीला शर्मा ने राष्ट्रपति शासन लगाए जाने की अपील की। उन्होंने बताया कि शिवसेना के कुछ लोगों ने पिता पर हमला किया। इसके बाद पुलिस घर पर आई और पिता को अपने साथ ले जाने के लिए दबाव बनाने लगी। नौसेना के पूर्व अधिकारी की पिटाई के मामले में गिरफ्तार 6 शिवसैनिकों को जमानत मिल गई। मुख्य आरोपी शिवसेना कार्यकर्ता कमलेश कदम है। मुंबई पुलिस ने रातोंरात इनकी गिरफ्तारी की। हालांकि, बाद में उन्हें जमानत मिल गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *