india

लखनऊ: हिन्दू नेता की हत्या की गुत्थी सुलझी, सामने आया चौंकाने वाला खुलासा…

उत्तर प्रदेश के लखनऊ में विश्व हिंदू महासभा के अन्तर्राष्ट्रीय अध्यक्ष रणजीत बच्चन की हत्या की गुत्थी आखिरकार सुलझ गई है। पुलिस ने हत्यारों को लेकर तरह-तरह का दावा किया। लेकिन जो सच सामने आया वो बेहद ही चौंकाने वाला था। रणजीत बच्चन की हत्या दूसरी पत्नी स्मृति श्रीवास्तव ने अपने प्रेमी देवेंद्र के साथ मिलकर करवाई है।

रणजीत बच्चन का कत्ल की मुख्य जड़ एक ‘थप्पड़’ बताया जा रहा है, जोकि रणजीत ने अपनी दूसरी पत्नी स्मृति को मारा था, जब उसने 17 जनवरी को मैरिज एनिवर्सरी पर रणजीत के साथ होटल जाने से इनकार कर दिया था। दोनों लखनऊ के सिकंदरबाग चौराहे पर मिले थे। रणजीत अपनी मैरिज एनिवर्सरी को स्मृति के साथ सेलिब्रेट करना चाहता था, लेकिन स्मृति के इनकार पर भड़के रणजीत ने उसे थप्पड़ मार दिया। इसे जानकर, गुस्साए देवेंद्र ने रणजीत को मारने का फैसला कर लिया।

रणजीत बच्चन की हत्या के मामले में पुलिस की तफ्तीश अवैध संबंधों और रुपये के लेनदेन की ओर आगे बढ़ी। रणजीत बच्चन के मोबाइल से मिले कई महिलाओं के मोबाइल नंबर पर पुलिस ने पूछताछ की। उनमें से कुछ नंबरों की सूची तैयार कर उन पर निगरानी शुरू कर दी गई। वहीं, मोबाइल पर मिले डिटेल के आधार पर रणजीत से सोशल साइट पर जुड़े लोगों के बारे मे जानकारी जुटाई। सोशल साइट पर रणजीत बच्चन के साथ जुड़े लोगों में गोरखपुर, लखनऊ, नोएडा, दिल्ली, प्रयागराज, रायबरेली, वाराणसी के लोग शामिल हैं। इनमें अधिकतर महिलाएं हैं। इनसे रणजीत की लंबी बातचीत और चैटिंग भी मिली थी।

गोरखपुर के प्रापर्टी डीलर से था लेनदेन का विवाद : एसटीएफ ने गोरखपुर से जिस प्रापर्टी डीलर को उठाकर लखनऊ पुलिस को सौंपा है, उससे बच्चन के पहले काफी करीबी संबंध थे। उसी ने गुलरिहा क्षेत्र के पतरका टोले में उनको जमीन भी दिलाई थी। बताते हैं बाद में उनके बीच लेनदेन का विवाद शुरू हो गया, जिसके चलते उसने हत्या की साजिश रची। कई अन्य लोगों से भी बच्चन का लेनदेन का विवाद होने की बात सामने आई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *