Categories
india News Politics

दिल्ली हिंसा पर PM नरेंद्र मोदी ने तोड़ी चुप्पी, कही ये बातें….

दिल्ली में हिंसा में मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। हिंसा में अब तक दिल्ली पुलिस के जवान सहित 20 लोगों की मौत हो चुकी है। हिंसा के चार दिन बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुप्पी तोड़ दी है। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि शांति सेना की कोशिश की जा रही है। पुलिस और एजेंसियों की ओर से प्रयास किए जा रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ट्वीट पर लिखा कि दिल्ली के विभिन्न हिस्सों में छद्म स्थिति पर व्यापक समीक्षा की गई। पुलिस और अन्य एजेंसियां ​​शांति और सामान्य स्थिति सुनिश्चित करने के लिए जमीन पर काम कर रही हैं। शांति और अभिव्यक्ति की कोशिशें जारी हैं। मैं दिल्ली की अपनी बहनों और मुसलमानों से हर समय शांति और भाईचारा बनाए रखने की अपील करता हूं। यह महत्वपूर्ण है कि शांत हो और सामान्य स्थिति जल्द से जल्द बहाल हो।

बता दें कि इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने केंद्र सरकार, केजरीवाल सरकार से लेकर दिल्ली पुलिस तक पर हमला बोला था। उन्होंने कहा कि बीजेपी नेता नफरत की बोली बोल रहे हैं और सरकार ने कुछ नहीं किया है। उन्होंने पूछा कि गृह मंत्री अमित शाह रविवार से कहां थे। सोनिया ने अमित शाह के इस्तीफे की मांग की है।

जानकारी के मुताबिक, दिल्ली हिंसा में अबतक 22 लोगों की मौत हो गई है। सरकार और पुलिस के एक्शन में आने के बाद भी आज फिर हिंसा भोर में। दिल्ली के गोकलपुरी में आगजनी हुई। अब भी राजधानी के चार इलाके में कर्फ्यू है। दिल्ली हिंसा पर आज सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट ने सख्त टिप्पणी की। सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली पुलिस पर सवाल उठाया, तो हाईकोर्ट ने बीजेपी नेता कपिल मिश्रा का वीडियो दिखा कर सरकार और पुलिस का आईआईआर दिखाया।

Categories
india News

राजस्थान: नदी में बस गिरने से बड़ा हादसा, 24 लोगों की मौत

राजस्थान के बूंदी जिले के लाखेरी से बड़ी खबर सामने आ रही है। यहां एक बस मेज नदी में गिर गई। जिससे बड़ा हादसा हो गया। इससे मौके पर हड़कंप मचा हुआ है। रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है

जानकारी के मुताबिक बस कोटा जिले से एक बस सवाईमाधोपुर जा रहा था। यह बूंदी के लाखेरी में एक निजी बस मेज नदी में गिर गई। इस यात्री में काफी संख्या में यात्री भरे हुए थे। मौके पर स्थानीय लोगों सहित अन्य प्रशासन ने मिलकर रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया। मौके पर नदी के आर-पार सैकड़ों लोगों की भीड़ जमा हो गई।

हादसे की सूचना मिलते ही कलेक्टर अंतर सिंह और एसपी शिवराज सिंह घटनास्थल के लिए रवाना हो गए। वहीं, जानकारी के मुताबिक, हादसे में करीब 24 लोगों की मौत हो गई है और कई लोग घायल हो गए हैं।

Categories
india News Politics

दिल्ली: हिंसा फैलाने वालों पर चलेगा प्रशासन का डंडा, गृहमंत्री अमित शाह ने दिए सख्त निर्देश

दिल्ली में तीन दिन तक हुई हिंसा के बाद आखिरकार गृह मंत्री अमित शाह ने बैठक की। जिसमें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उप-राज्यपाल अनिल बैजल, गृह सचिव अजय भल्ला के अलावा आला अधिकारी, बीजेपी सांसद मनोज तिवारी, कांग्रेस नेता सुभाष चोपड़ा, बीजेपी विधायक रामबीर बिधूड़ी मौजूद रहे।

जानकारी के मुताबिक बैठक में कई अहम फैसले लिए गए। जैसे:- अफवाह फैलाने वालों पर नजर, इसके तहत पुलिस हिंसा फैलाने वाले लोगों पर रखे कड़ी नजर रखेगी, -अफवाह फैलाने वाले लोगो और सोशल साइट पर गृह मंत्रालय की कड़ी नज़र, पुलिस और स्थानीय विधायक के बीच हो बेहतर कोऑर्डिनेशन बनेगा, हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस और ड्रोन के जरिए कड़ी निगरानी के निर्देश, पुलिस बल के सहयोग के लिए और अर्धसैनिक बल बढ़ाए जाएंगे, अफवाह फैलाने वाले की धरपकड़ करने के आदेश दिए गए।

बैठक के बाद दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने कहा कि हिंसा बढ़ेगी तो उसका किसी को फायदा नहीं होगा। गृहमंत्री ने बैठक बुलाई थी। मीटिंग सकारात्मक रही। राजनीति से ऊपर उठकर सब ने तय किया कि यह दिल्ली का मामला है, और सभी राजनीतिक दल मिलकर शांति बहाल करने के लिए प्रयास करेंगे। गृहमंत्री ने आश्वासन दिया है कि पुलिस की कोई कमी नहीं होने देंगे।

सेना बुलाने के सवाल पर केजरीवाल ने कहा कि अगर जरूरत पड़ेगी तो वह देखेंगे। उन्होंने कहा कि कई पुलिसकर्मी घायल हैं। पुलिस वाले अपनी तरफ से कोशिश कर रहे हैं। ऐसा लग रहा था कि पुलिस की कुछ कमी नजर आ रही थी। लेकिन गृहमंत्री ने आश्वासन दिया है कि पुलिसबल की कमी महसूस नहीं होने देंगे। जो भी जरूरत पड़ेगी वह मुहैया कराया जाएगा। दिल्ली की सभी राजनीतिक पार्टियां राजनीति से ऊपर उठकर शांति बहाल करने के लिए आगे आएं।

Categories
india News

दिल्ली के इन इलाकों में लगा कर्फ्यू, सुरक्षाबलों ने संभाला मोर्चा

दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर पिछले तीन दिनों में बवाल मचा हुआ है। फिलहाल दिल्ली पुलिस ने जाफराबाद मेट्रो स्टेशन पर चल रहे प्रदर्शन को खत्म करवा दिया है। यहां बड़ी संख्या में महिलाएं शाहीन बाग की तर्ज पर नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ धरने पर बैठी थीं। तीन दिनों तक दिल्ली में उपद्रवियों ने जो तांडव मचाया, अब बुधवार की सुबह दिल्ली के इस क्षेत्र में शांति है और पुलिस यहां पर तैनात है।

बता दें कि जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के रास्ते में धरना प्रदर्शन के कारण काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। जाफराबाद समेत दिल्ली के कई इलाकों में हिंसा हुई। मंगलवार को सीलमपुर, मौजपुर, भजनपुरा और गोकुलपुरी क्षेत्र में उपद्रवियों ने तांडव किया, जिसके बाद पुलिस ने एक्शन लिया। अब बुधवार सुबह से ही दिल्ली के इन क्षेत्रों में पुलिस, सुरक्षाबल तैनात हैं और चप्पे-चप्पे पर नज़र रख रहे हैं।

दिल्ली में बिगड़ते हालातों को देखते हुए मंगलवार को दिल्ली पुलिस ने मुस्तैदी से मोर्चा संभाला। दिल्ली के अलग-अलग क्षेत्रों में पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी स्थानीय लोगों से बात करते नज़र आए, इसके अलावा सुरक्षाबलों ने शांतिमार्च भी निकाला। कई क्षेत्रों में पुलिस की ओर से सद्भावना बैठक का भी आयोजन किया गया।

आपको बता दें कि पिछले तीन दिनों में दिल्ली में सीएए विरोधी और सीएए समर्थक गुट आमने-सामने आ गए हैं। इस दौरान दिल्ली के कई क्षेत्रों में हिंसक प्रदर्शन हुआ, तोड़फोड़-आगजनी की घटनाएं भी सामने आईं। दिल्ली में हुई हिंसा में अभी तक 17 लोगों की जान चली गई है। दिल्ली के चार क्षेत्रों में कर्फ्यू भी लगा दिया गया है। जिनमें जाफराबाद, मौजपुर, बाबरपुर और चांदबाग शामिल हैं। साथ ही दिल्ली में एक महीने के लिए धारा 144 भी लागू कर दी गई है।

Categories
india News Politics

ओवैसी ने दिल्ली हिंसा को लेकर केंद्र सरकार पर साधा निशाना, कहा-‘सरकार समर्थित है दिल्ली हिंसा…’

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में हो रही हिंसा रुकने का नाम ही नहीं ले रही है। वहीं, नेताओं की भी बयानबाजी भी जारी है। एआईएमआईएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने दिल्ली हिंसा पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। ओवैसी ने दिल्ली हिंसा को राज्य प्रायोजित बताया है। उन्होंने कहा कि अगर बीजेपी का एक पूर्व विधायक इलाके के डीसीपी को अल्टीमेटम देता है तो ये बताता है कि उसे ऊपर से अनुमति मिली हुई है। उन्होंने कहा कि सरकार ने सख्ती क्यों नहीं की?

ओवैसी ने कहा कि अगर सरकार को इस बात की जानकारी थी कि ट्रंप के दौरे के दौरान हिंसा हो सकती है तो उन्होंने कार्रवाई क्यों नहीं की। ये साम्प्रदायिक हिंसा नहीं है बल्कि सरकार समर्थित हिंसा है। ओवैसी ने कहा है कि दिल्ली पुलिस बिना कारण भारतीयों का सम्मान छीन रही है और उनका अपमान कर रही है. ओवैसी ने कहा कि अब कार्रवाई का वक्त है।

ओवैसी ने एक वीडियो ट्वीट करते हुए गृह मंत्री अमित शाह पर निशाना साधा है। ओवैसी ने ट्वीट करते हुए लिखा, “अमित शाह आपकी पुलिस भारतीयों का सम्मान छीन रही है और बिना कारण उन्हें नीचा दिखा रही है। अभी कार्रवाई करें, ये पुलिसकर्मी कठोरतम कानूनी सजा के हकदार हैं।”

दिल्ली में बगड़ते हालत को देखते हुए अर्द्धसैनिक बलों की 35 कंपनियां तैनात कर दी गई है। इसके अलावा यहां पर स्पेशल सेल, क्राइम ब्रांच, आर्थिक अपराध शाखा के पुलिसकर्मियों की भी तैनाती की गई है। दिल्ली के अलग-अलग जिलों से स्थानीय पुलिस को भी बुला लिया गया है। हालात को देखते हुए दिल्ली के इस इलाके में एक महीने के लिए धारा-144 लगा दी गई है।

Categories
india News

भारत और अमेरिका के बीच हुई इतनी बड़ी डील, PAK को ट्रंप ने सुनाई खरी-खरी

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत के दो दिवसीय दौरे पर हैं। लेकिन सबकी निगाहें एक बात पर टिकी हुई थीं, वह रक्षा मंत्री थे। आखिरकार लंबी बातचीत और मोल-भाव के बाद ट्रम्प ने आज दोनों देशों के बीच 3 अरब डॉलर के रक्षा सौदे की घोषणा कर दी। इन सबके बीच ट्रंप ने पाकिस्तान को आतंकवाद पर रोक-सुना सुनाई। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की धरती से चलने वाले आतंकवाद पर लगाम लगाने की जरूरत है। ट्रम्प और मोदी ने दोनों देशों के बीच मजबूत रिश्तों का भी जिक्र किया। ट्रम्प ने कहा कि वह भारत का यह दौरा कभी नहीं भूलेंगे।

3 अरब डॉलर का रक्षा समझौता
इन प्रस्तावों में अमेरिका से 24 MH60 रोमियो हेलिकॉप्टर की 2.6 अरब अमेरिकी डॉलर में खरीद शामिल है। एक अन्य सौदा छह AH 64E अपाचे हेलिकॉप्टर को लेकर जिसकी कीमत 80 करोड़ डॉलर होगी। ट्रम्प ने इसके संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसकी जानकारी देते हुए कहा कि 3 अरब डॉलर से ज्यादा के डिफेंस सौदे से दोनों देशों के रक्षा संबंध और मजबूत होंगे।

पीएम मोदी बोले- अमेरिका से भारत की साझेदारी महत्वपूर्ण है
वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि हमने भारत-अमेरिका साझेदारी के महत्वपूर्ण पहलुओं पर चर्चा की, वह चाहे रक्षा हो या सुरक्षा। हमने एनर्जी स्ट्रैटिजिक पार्टनरशिप, ट्रेड और पिपल-टू-पिपल के बीच संबंधों पर भी चर्चा की। रक्षा क्षेत्र में भारत-अमेरिका के बीच मजबूत होता संबंध हमारी साझेदारी का महत्वपूर्ण पक्ष है। ट्रंप ने आतंकवाद का जिक्र करते हुए कहा कि पीएम मोदी और मैं अपने नागरिकों को कट्टर इस्लामिक आतंकवाद से बचाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। अमेरिका पाकिस्तान की धरती से चल रहा आतंकवाद को रोकने के लिए कदम उठा रहा है।

डोनाल्ड ट्रम्प ने अहमदाबाद के मोटारा स्टेडियम में आयोजित ‘नमस्ते ट्रम्प’ कार्यक्रम में सोमवार को ही इस डील का ऐलान कर दिया था। उन्होंने बताया कि तीन अरब डॉलर की कीमत वाले सैन्य हेलिकॉप्टर और अन्य उपकरणों के लिए मंगलवार को समझौते किए जाएंगे। ट्रम्प ने कहा था कि हम अब तक के कुछ श्रेष्ठ उपकरण बनाते हैं: विमान, मिसाइलें, दीवार, पुल। हम अब भारत के साथ सौदा कर रहे हैं। इसमें उन्नत वायु रक्षा प्रणाली और सशस्त्र और बिना शस्त्र वाले एरियल वीइकल शामिल हैं।

ट्रंप के साथ उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप, पुत्री इवंका, कीमताद जेरेद कुशनर और उनके प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी भी दो दिव्य भारत दौरे पर हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने दोनों देशों के बीच रक्षा और रणनीतिक संबंधों के बारे में कहा था कि अमेरिका भारत को दुनिया के कुछ प्रदर्शन और कुछ शानदार सैन्य उपकरण उपलब्ध कराने को लेकर उत्सुक है।

Categories
india News

दिल्ली हिंसा: जानिए कौन है ये 8 राउंड फायरिंग करने वाला शख्स

नागिरकता संशोधन कानून को लेकर दिल्ली में तीसरे दिन भी हिंसा जारी है। अब तक इस हिंसा में मरने वालों की संख्या सात हो गई है। सोमवार को उत्तर-पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद, मौजपुर, भजनपुरा, चांदबाग समेत कई इलाकों में उपद्रवियों ने पथराव किया और फिर घरों, दुकानों तथा वाहनों में आग लगा दी गई। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस छोड़ी और लाठीचार्ज भी किया।

सोमवार को जाफराबाद से एक वीडियो सामने आया जिसमें भीड़ में शामिल एक उपद्रवी पुलिसकर्मी की ओर पिस्टल तानता हुआ नजर आ रहा है। उसने बाद में उसने हवा में कई राउंड फायर भी किए। इसके बाद यहां हिंसा बेकाबू हो गई। सोमवार देर शाम पुलिस ने शख्स की पहचान कर ली। खबरों के मुताबिक, गोली चलाने वाले शख्स को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। हिरासत में लिए गए शख्‍स का नाम शाहरुख बताया जा रहा है। पहचान होने के बाद से ही पुलिस इस शख्स की तलाश में जुटी हुई थी।

जानकारी के अनुसार, लाल रंग की टीशर्ट पहने इस व्यक्ति का नाम शाहरुख है जिसका वीडियो सोमवार को सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा था। वीडियो और फोटो में भी इस शख्स के हाथ में बंदूक साफ नजर आ रहा है और वह पुलिस वाले के सामने बढ़ता दिख रहा है। जब पुलिसकर्मी ने उसे रोकने का प्रयास किया तो उसने वहीं गोली चला दी। बताया जा रहा है कि आरोपी शाहरुख ने 8 राउंड गोलियां चलाई। यह शख्स ऐंटी-सीएए ग्रुप का सदस्य है।

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किशन रेड्‌डी ने कहा कि ट्रंप के दौरे के समय हिंसा होना बड़ी साजिश की तरफ इशारा कर रहा है। गृह मंत्रालय लगातार हालात पर नजर बनाए हुए है। दोषियों को किसी भी हाल में बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने कांग्रेस और सीएए विरोधियों पर निशाना साधते हुए कहा कि राहुल गांधी और सीएए विरोधियों को इस पर जवाब देना चाहिए।

कांग्रेस ने दिल्ली में हिंसक झड़प मामले में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की ‘चुप्पी’ को लेकर सवाल उठाया और उनके इस्तीफे की मांग की है। पार्टी नेता राहुल गांधी ने लोगों से उकसावे के बावजूद संयम, करुणा और समझदारी दिखाने का अनुरोध किया। राहुल गांधी ने कहा कि शांतिपूर्ण प्रदर्शन स्वस्थ लोकतंत्र की पहचान है, लेकिन हिंसा को कभी भी न्यायोचित नहीं ठहराया जा सकता है।

Categories
india News

दिल्ली हिंसा: उत्तर-पूर्वी दिल्ली में एक महीने के लिए धारा-144 लागू, हिंसा में मरने वालों की संख्या में बढ़ोतरी

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर उत्तर-पूर्वी दिल्ली में तीसरे दिन भी हिंसा जारी है। उत्तर पूर्वी दिल्ली में हिंसक घटनाओं में मरने वालों की संख्या बढ़कर सात हो गई है। वहीं, उत्तर-पूर्वी दिल्ली में एक महीने के लिए धारा 144 लागू कर दी गई है। सोमवार को सीएए को लेकर हुई हिंसा में जान गंवाने वाले सात लोगों में दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल रतनलाल शामिल हैं। अधिकारियों ने बताया कि सोमवार तक हिंसा में जान गंवाने वालों की संख्या चार थी। मंगलवार को यह संख्या बढ़कर सात हो गई। वहीं, 100 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं।

उपद्रवियों मंगलवार सुबह कई गाड़ियों समेत 5 बाइकों और दुकानों में भी आग लगा दी। वहीं, दुकानों में तोड़फोड़ के अलावा लूटपाट की भी खबरें आई हैं। गोकलपुरी टायर मार्केट की 20 दुकानें जलकर राख हो गई हैं। बता दें कि सोमवार को उत्तर-पूर्वी दिल्ली में काफी हिंसा हुई। इसके बाद दिल्ली में सात जगहों पर पथराव और आगजनी हुई।

वहीं, गृह मंत्रालय ने आंशका जताई है कि दिल्ली में हिंसा अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की यात्रा के मद्देनजर करवाई गई है, ताकि जो इसमें शामिल हैं, वे व्यापक प्रचार हासिल कर सकें। इससे देश की छवि खराब होगी। दिल्ली पुलिस के अधिकारी गृह मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों के साथ लगातार संपर्क में हैं। इस बीच, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने हिंसा के मद्देनजर शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक की और सुरक्षा-व्यवस्था का जायजा लिया।

Categories
india News

निर्भया गैंगरेप केस: SC में दोषियों को अलग-अलग फांसी देने वाली याचिका टली, अब इस तारीख को होगी सुनवाई

निर्भया गैंगरेप केस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई हुई। कोर्ट ने दोषियों को अलग-अलग फांसी देने की मांग वाली केंद्र सरकार की याचिका को 5 मार्च तक के लिए टाल दिया है। साल 2012 के दिल्ली गैंग रेप मामले में जस्टिस आर भानुमति के नेतृत्व में तीन जजों वाली सुप्रीम कोर्ट की बेंच को गृह मंत्रालय इस याचिका पर सुनवाई करना है, जिसमें दोषियों को अलग-अलग फांसी के निर्देश देने की बात कही गई है। निर्भया के चारों दोषियों के लिए दिल्ली की अदालत पहले ही नया डेथ वारंट जारी कर चुकी है, जिसके मुताबिक इन्हें तीन मार्च को फांसी होनी है।

बता दें कि दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया सामूहिक बलात्कार एवं हत्याकांड के चार दोषियों को 3 मार्च सुबह छह बजे फांसी देने के लिए नया मृत्यु वारंट जारी किया है। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश धर्मेंद्र राणा ने चारों दोषियों मुकेश कुमार सिंह (32), पवन गुप्ता (25), विनय कुमार शर्मा (26) और अक्षय कुमार (31) को फांसी देने के लिए यह मृत्यु वारंट जारी किया है। यह तीसरी बार है कि इन चारों के लिए मृत्यु वारंट जारी किए गए हैं। सबसे पहले फांसी देने की तारीख 22 जनवरी तय की गई थी। लेकिन 17 जनवरी के अदालत के आदेश के बाद इसे टालकर एक फरवरी सुबह छह बजे किया गया था। फिर 31 जनवरी को निचली अदालत ने अगले आदेश तक चारों दोषियों की फांसी की सजा पर रोक लगा दी थी, क्योंकि उनके सारे कानूनी विकल्प खत्म नहीं हुए थे।

17 जनवरी 2020 को अभियुक्त मुकेश के अलावा विनय, पवन व अक्षय के पास सुधारात्मक व दया याचिका का विकल्प होने का हवाला दिया गया। अदालत को बताया गया कि इन्होंने अभी अपने विकल्पों का इस्तेमाल नहीं किया है। जबकि अभियुक्त मुकेश की सुधारात्मक याचिका उच्चतम न्यायालय व दया याचिका राष्ट्रपति रामनाथ कोंविद द्वारा खारिज कर दी गई है। इसके बाद अदालत ने तीनों अभियुक्तों को कानूनी विकल्पों के इस्तेमाल का समय देते हुए नई तारीख तय की।

एक फरवरी 2020 के लिए जारी दूसरा डेथ वारंट भी टला
30 जनवरी 2020 को अदालत में एक बार फिर अभियुक्तों के कानूनी अधिकारों का हवाला देते हुए एक फरवरी को होने वाले डेथ वारंट को टालने की गुहार लगाई गई। बचाव पक्ष के अधिवक्ता एपी सिंह ने अदालत को अभियुक्तों के विकल्प का ब्योरा देते हुए कहा कि विनय की दया याचिका राष्ट्रपति के पास लंबित है,वहीं अक्षय व पवन के पास भी कई कानूनी विकल्प बाकी हैं। अदालत ने 31 जनवरी को अभियुक्तों के विकल्पों के आधार पर सजा पर तामील को टाल दिया था।

दिल्ली उच्च न्यायालय ने दिया एक हफ्ते का समय 7 फरवरी 2020 को दिल्ली उच्च न्यायालय ने तिहाड़ जेल की अभियुक्तों को अलग-अलग फांसी की याचिका को नामंजूर कर दिया था। हालांकि साथ ही दिल्ली उच्च न्यायालय ने चारों अभियुक्तों को अपने कानूनी विकल्पों के इस्तेमाल के लिए एक हफ्ते का समय दिया था। उच्च न्यायालय ने कहा था कि अभियुक्त एक हफ्ते में अपने सभी कानूनी अधिकारों का इस्तेमाल करें।

Categories
india News

भारत की छवि खराब करने के लिए डोनाल्ड ट्रंप के सामने रची गई हिंसा की साजिश!

उत्तरर पूर्वी दिल्ली- में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में जमकर हिंसा हो रही है। इस हिंसा के बीच गृह मंत्रालय का बड़ा बयान सामने आया है। गृह मंत्रालय ने आशंका जताई है कि यह हिंसा अमेरिकी राष्ट्रकपति डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा के दौरे को ध्यािन में रखकर की गई। इसके जरिए सुनियोजित तरीके से ट्रंप के सामने भारत की खराब छवि पेश करने की साजिश रची गई। गृह मंत्रालय और दिल्लीर पुलिस कमिश्ननर घटना पर ध्यािन रखे हुए हैं और जल्द ही स्थिीति नियंत्रण में होगी। दिल्लीा पुलिस कमिश्न र कंट्रोल से स्थिलति पर नजर रखे हुए हैं।

किशन रेड्डी ने कहा कि उत्तेर पूर्वी दिल्ली में हिंसा अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दौरे को ध्याुन में रखकर सुनियोजित तरीके से रची गई। मैं इसकी निंदा करता हूं। सरकार इस प्रकार की हिंसा को बर्दाश्तत नहीं करेगी। इसके लिए जो दोषी हैं, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। गृह मंत्रालय उन पर नजर रखे हुए है। वहां पर अतिरिक्ती पुलिस बल को तैनात किया गया है। हमारी मुख्यै प्राथिमकता दिल्लीु में कानून व्य वस्था् बनाए रखने को लेकर है। गृह मंत्रालय ने उन लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने को कहा है जो पुलिसकर्मी की हत्याउ, पत्थररबाजी और संपत्तिव में आग लगाने के लिए दोषी हैं।

किशन रेड्डी ने आगे कहा कि राहुल गांधी, कांग्रेस पार्टी और सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों को बताना चाहिए कि भारत की छवि को नुकसान पहुंचाने के लिए कौन जिम्मेदार है? उत्तकर पूर्व दिल्लीम में हिंसा को लेकर केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्लाे ने कहा कि वरिष्ठो अधिकारी मौके पर हैं। वहां पर्याप्तस सुरक्षा बल तैनात कर दिया गया है। स्थि ति नियंत्रण में है।

जाफराबाद और मौजपुर में हिंसा की खबरों पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि दिल्ली के एक हिस्से से शांति और सदभाव को नुकसान पहुंचाने वाली चिंताजनक खबर आ रही है। मैं लेफ्टिनेंट गर्वनर और गृह मंत्री से कानून-व्यवस्था की स्थिति बहाल करने की अपील करता हूं। उत्पात मचाने को किसी को अनुमति नहीं दी जाएगी।

महिलाओं ने मेट्रो स्टे शन पर शुरू किया प्रदर्शन
जाफराबाद में सीएए के विरोध में डेढ़ माह से सड़क किनारे टेंट लगाकर महिलाएं प्रदर्शन कर रही थीं। शनिवार रात उन्होंने जाफराबाद रोड को बंद कर दिया। रविवार सुबह पुलिस अधिकारियों ने प्रदर्शनकारियों से बातचीत कर मौजपुर से सीलमपुर जाने वाले एक रास्ते को खुलवा दिया, लेकिन सीलमपुर से मौजपुर जाने वाला मार्ग बंद रहा। इस बीच प्रदर्शनकारी जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के नीचे धरने पर बैठे रहे।

रविवार दोपहर करीब तीन बजे यहां से लगभग 500 मीटर दूर बीजेपी नेता कपिल मिश्रा, पार्षद कुसुम तोमर और अन्य समर्थकों के साथ मौजपुर लाल बत्ती पर सीएए के समर्थन में धरने पर बैठ गए। इस दौरान करीब 100 मीटर दूर मौजपुर तिराहे पर कबीर नगर और कर्दमपुरी से लोग जुटने लगे। उन्होंने सीएए के विरोध में आजादी के नारे लगाने शुरू कर दिए। इस बीच कपिल मिश्रा के धरने पर पथराव किया गया तो कपिल मिश्रा के समर्थन में बाबरपुर- मौजपुर से लोग जुटने लगे। देखते-देखते दोनों पक्षों में पथराव शुरू हो गया। यमुनापार के कई इलाके रविवार को दिनभर सुलगते रहे। इसमें जाफराबाद, मौजपुर, बाबरपुर, करावल नगर प्रमुख थे। यहां CAA विरोधी और समर्थक आमने-सामने आ गए थे। इससे वहां पथराव और हिंसा हुई।

सोमवार को भी जारी रही हिंसा
दिल्ली के विभिन्न इलाकों में सोमवार को भी प्रदर्शन जारी रही। जाफराबाद रोड, भजनपुरा और मौजपुर में हिंसक प्रदर्शन के दौरान दो घरों में आग लगा दी और एक पेट्रोल पंप को फूंक डाला। हिंसा के चलते एक पुलिसकर्मी रतन लाल की मौत हो गई है, जबकि डीसीपी समेत कई अन्य घायल हैं। मौजपुर हिंसा के दौरान करीब 37 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। शाहदरा डीसीपी अमित शर्मा के सिर में गहरी चोट आई है। ACP गोकुलपुरी को भी भर्ती कराया गया है। हिंसक प्रदर्शनों के चलते उत्तर-पूर्वी जिले के 10 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगाया गया