प्रियंका का योगी सरकार पर हमला, कहा- वाह रे बीजेपी का न्याय

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने यूपी मे बिगड़ी कानून व्यवस्था को लेकर योगी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने शाहजहांपुर केस का जिक्र करते हुए ट्वीट कर लिखा, “आरोपी बीजेपी नेता को पकड़ने में पुलिस ने जानबूझकर देरी की। लेकिन जनता के बढ़ते दबाव के चलते आरोपी बीजेपी नेता को गिरफ्तार किया गया। लेकिन इस सब के बावजूद आरोपी बीजेपी नेता पर अब तक रेप का चार्ज तक नहीं लगाया। वाह रे बीजेपी का न्याय?”

Priyanka Gandhi Vadra

@priyankagandhi
· 4h
उन्नाव बलात्कार केस:

पीड़िता के पिता की हत्या।
पीड़िता के चाचा गिरफ़्तार।
भारी जन दबाव के बाद घटना के 13 महीने बाद आरोपी विधायक गिरफ़्तार।
पीड़िता के परिवार को जान से मारने की कोशिश।

शाहजहाँपुर बलात्कार केस:

पीड़िता गिरफ़्तार।
पीड़िता के परिवार पर दबाव।

Priyanka Gandhi Vadra

@priyankagandhi
आरोपी भाजपा नेता को पुलिस ने जानबूझकर देरी की। जन दबाव पड़ने के बाद गिरफ़्तार किया।

आरोपी भाजपा नेता पर अब तक बलात्कार का चार्ज तक नहीं लगाया।

वाह रे भाजपा का न्याय?

4,762
11:16 AM – Sep 26, 2019
Twitter Ads info and privacy
1,606 people are talking about this

Priyanka Gandhi Vadra

@priyankagandhi
उन्नाव बलात्कार केस:

पीड़िता के पिता की हत्या।
पीड़िता के चाचा गिरफ़्तार।
भारी जन दबाव के बाद घटना के 13 महीने बाद आरोपी विधायक गिरफ़्तार।
पीड़िता के परिवार को जान से मारने की कोशिश।

शाहजहाँपुर बलात्कार केस:

पीड़िता गिरफ़्तार।
पीड़िता के परिवार पर दबाव।

6,840
11:16 AM – Sep 26, 2019
Twitter Ads info and privacy
2,605 people are talking about this
उन्होंने दूसरे ट्वीट में उन्नाव रेप कांड का जिक्र करते हुए कहा, “उन्नाव बलात्कार केस में पीड़िता के पिता की हत्या हो गई। पीड़िता के चाचा गिरफ्तार कर लिया गया। जनता के दबाव के बाद घटना के 13 महीने बाद आरोपी विधायक गिरफ्तार किया गया। पीड़िता के परिवार को जान से मारने की कोशिश की गई।”

गौरतलब है कि शाहजहांपुर के एलएलएम की छात्रा ने बीजेपी नेता चिन्मयानंद पर कई लड़कियों का यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है। छात्रा ने कहा था कि चिन्मयानंद ने कई लड़कियों के जीवन को बर्बाद कर दिया है। जिस कॉलेज में छात्रा एलएलएम की पढ़ाई कर रही है। उस कॉलेज के बीजेपी नेता चिन्मयानंद निदेशक हैं। पीड़िता ने कहा था कि चिन्मयानंद कहता है कि कोई मेरा कुछ नहीं कर सकता है। मेरे पास सारे एविडेंस हैं। मेरी रिक्वेस्ट है कि आप मुझे इंसाफ दिलाइए।

इसके बाद पीड़िता और उसके परिवार ने जांच कर रही एसआईटी को चिन्मयानंद के खिलाफ एक-दो नहीं, बल्कि 43 वीडियो सौंपे थे। स्वामी चिन्मयानंद को ‘ब्लैकमेलर’ बताया था। पीड़िता ने दावा किया था, “चिन्मयानंद ने ही नहाते समय का मेरा (पीड़िता) वीडियो अपने विश्वासपात्र से तैयार करवाया था। वीडियो हाथ लगते ही चिन्मयानंद ने मुझे ब्लैकमेल कर हवस का शिकार बनाना शुरू कर दिया था।”

दूसरी ओर छात्रा पर पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद से फिरौती मांगने का आरोप लगाया था। फिरौती का एक वीडियो सामने आया था, जिसके बाद छात्रा और उसके तीन साथियों पर पुलिस ने फिरौती मांगने का केस दर्ज किया था। पांच करोड़ की फिरौती मांगने के मामले में जेल में बंद सचिन उर्फ सोनू और विक्रम सिंह को मंगलवार को एसआईटी ने रिमांड पर लिया था। इस मामले में छात्रा को स्थानीय कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *