अमित शाह के साथ डील के बाद देश मे हडकंप

त्रिपुरा में पहले प्रदेश अध्यक्ष और फिर 10 अन्य नेताओं के इस्तीफे के चलते कांग्रेस की स्थिति खराब हो गई है। राजपरिवार के सदस्य प्रद्योत किशोर देबबर्मन ने गुटबाजी का आरोप लगाते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद छोड़ दिया था, अब पार्टी नेताओं ने उन पर बीजेपी के इशारे पर यह कदम उठाने का आरोप लगाया। पार्टी नेताओं का कहना है कि उनका इस्तीफा अमित शाह के साथ हुई डील का एक हिस्सा है। प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता सुबल भौमिक ने प्रद्योत पर यह गंभीर आरोप लगाया।

भौमिक का कहना है, प्रद्योत किशोर से इस डील में असम के मंत्री हेमंत बिस्वा सरमा ने अहम भूमिका निभाई। नई राजनीतिक पार्टी बनाने की बातें कर रहे प्रद्योत जल्द ही बीजेपी जॉइन करेंगे। त्रिपुरा में सरकार चला रही बीजेपी और आईपीएफ में संबंध अच्छे नहीं हैं, इसीलिए बीजेपी प्रद्योत के संपर्क में है। अब तक हम कुछ नहीं बोल रहे थे क्योंकि प्रद्योत हमारे नेता थे, लेकिन अब हम सच सामने लाकर रहेंगे।

गौरतलब है कि प्रद्योत किशोर के इस्तीफे के दूसरे दिन 10 और पार्टी नेताओं ने इस्तीफा सौंप दिया था। इस्तीफा देने वालों ने कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव लुइजिन्हो फ्लेरियो पर षड्यंत्र रचने, कांग्रेस को नुकसान पहुंचाने और बीजेपी नेताओं के साथ गठजोड़ करने का आरोप लगाया था। कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष रहे भौमिक के आरोपों को खारिज करते हुए प्रद्योत किशोर ने कहा, ‘मेरी मां पिछले 15 दिनों से अगरतला में है। मैंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी, अहमद पटेल और अन्य नेताओं से मुलाकात की है। मै या मेरी मां न तो अमित शाह से मिले हैं और न ही बीजेपी के किसी अन्य नेता से।’ भौमिक पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है पार्टी बदलने में भौमिक पीएचडी होल्डर हैं। अगर हम नई पार्टी लॉन्च करते हैं तो हमें उनका आशीर्वाद ले लेना चाहिए।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *