साउथ अफ्रीका सामना होगा टीम इंडिया के नए ‘सहवाग’ से

भारतीय ओपनर बल्लेबाज रोहित शर्मा को टेस्ट में अपनी जगह बनाने का आखिरी मौका मिलने जा रहा है। भारतीय टेस्ट टीम में अंदर-बाहर होते रहे रोहित गुरुवार से साउथ अफ्रीका के खिलाफ प्रैक्टिस मैच खेलने मैदान में उतरेंगे। तीन दिन तक चलने वाले इस वार्म अप मैच में रोहित शर्मा को प्रेसीडेंट इलेवन की कमान सौंपी गई है जो मेहमान प्रोटीज के खिलाफ विजयनगरम में अभ्यास मैच खेलेगी।टेस्ट में एक बेहतर ओपनर की तलाश में भारतीय टीम मैनेजमेंट और सलेक्टर्स ने रोहित पर फिर से भरोसा जताया है। पिछले कुछ सालों में रोहित सीमित ओवरों के खेल में नए काफी खतरनाक हो चुके हैं। ऐसे में उनकी धुरंधर बैटिंग को देख भारतीय टीम के कप्तान और कोच 32 साल के इस खिलाड़ी को कम से कम 5 मैचों में जरूर मौका दे सकते हैं। 2 अक्टूबर से साउथ अफ्रीका के खिलाफ शुरु हो रहे पहले टेस्ट में रोहित, मयंक अग्रवाल के साथ ओपनिंग की जिम्मेदारी संभालेंगे.टेस्ट क्रिकेट में एसजी, ड्यूक्स और कूकाबुरा गेंद के सामने रोहित शर्मा की तकनीक हमेशा सवालों के घेरे में रही। मगर अब कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री का मानना है जिस तरह वीरेंद्र सहवाग ने अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी को टेस्ट में सबसे बड़ा हथियार बनाया ऐसा ही कुछ अब रोहित को करना होगा। अगर रोहित इसमें सफल होते हैं तो वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप को देखते हुए भारतीय टीम का यह सबसे बड़ा माॅस्टर स्ट्रोक साबित हो सकता है।

लाइन में खड़े हैं युवा ओपनर्स

रोहित को बतौर सलामी बल्लेबाज टेस्ट में उतारने का प्रयोग अगर असफल भी होता है तो उनकी जगह लेने के लिए तमाम युवा खिलाड़ी लाइन में लगे हैं। शुभमन गिल, अभिमन्यु ईश्वरन और प्रियांक पांचाल ने हाल ही में काफी बढ़िया क्रिकेट खेला है। इसके अलावा केएल राहुल जो सीमित ओवरों के खेल में भले खराब दौर से गुजर रहे मगर टेस्ट में वह कभी भी बेहतरीन प्रदर्शन कर सकते हैं। हमें पृथ्वी शाॅ को भी नहीं भूलना चाहिए जो फिलहाल छह महीने के बैन के चलते बाहर हैं। वापस आते ही उनके अंदर भी रनों की भूख जग जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *