20 बरस से बाप को एक ही टीशर्ट पहने देख शर्मिंदा होती बेटी, जब सामने आया सच तो फूट-फूट रोने लगी

आज हम आपको एक ऐसी कहानी बताने वाले है, जो केवल सच ही नहीं बल्कि बेहद दिलचस्प भी है. जी हां बता दे कि आज कल सोशल मीडिया पर ये कहानी काफी वायरल हो रही है. इसलिए आज ये कहानी हम आपको बताने जा रहे है. बता दे कि ये किस्सा चीन का है. गौरतलब है कि चीन के बीजिंग शहर में रहने वाली रिया नाम की एक लड़की ने जब अपनी निजी कहानी सबके साथ शेयर की तो उसकी ये कहानी चीन के सोशल मीडिया पर आग की तरह फ़ैल गई. जी हां दरअसल रिया का कहना है कि कुछ समय पहले वो अपने पिता की अजीबोगरीब आदत से परेशान या यूँ कहा जाएँ कि उन पर शर्मिंदा थी.

वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दे कि रिया के पिता कम बात करने वाले इंसान है. जिसके चलते रिया उनके साथ अपने अनुभव शेयर नहीं कर पाती थी. वैसे रिया की कहानी के अनुसार उसके पिता पिछले बीस सालो से एक ही टीशर्ट पहनते थे. हालांकि कुछ दिन तो रिया को ये सब सही लगा लेकिन बाद में उसे अपने पिता की ये आदत अजीब सी लगने लगी. अब आप सोच रहे होंगे कि भला कोई इंसान बीस साल तक एक ही टीशर्ट कैसे पहन सकता है.

बरहलाल यही सवाल रिया के मन में भी आ रहा था, लेकिन वो अपने पिता से इस बारे में पूछने की कभी हिम्मत नहीं कर पाई. मगर समय बीतने के साथ रिया के दोस्त भी उसे इस बात के लिए चिढ़ाने लगे. केवल इतना ही नहीं इसके इलावा रिया के पिता को लोग पागल तक कहने लगे और ये सब सुन कर रिया को बेहद तकलीफ होती थी. बता दे कि इसी दौरान रिया ने कुछ ऐसा देखा, जिसके बाद उसे अपने पिता पर गर्व होने लगा.

जी हां इसके बाद रिया के मन में अपने पिता के लिए इज्जत और ज्यादा बढ़ गई थी. दरअसल एक दिन रिया जब अपने घर की सफाई कर रही थी, तब उसने अपने माता पिता के हनीमून की तस्वीरें देखी. बता दे कि इन तस्वीरो में रिया के माता पिता ने एक अलग तरह की मैचिंग टीशर्ट पहन रखी थी. ऐसे में ये तस्वीरें देखते ही रिया की आँखों से आंसू आ गए. जी हां बता दे कि रिया बिन माँ की बच्ची थी. दरअसल उसकी माँ बीस साल पहले ही गुजर चुकी थी और ऐसे में उसके पिता ने ही उसे पाल पोस कर बड़ा किया था और उसी की खातिर कभी दूसरी शादी भी नहीं की.

बरहलाल इन तस्वीरों को देखने के बाद रिया की आँखों से शर्मिंदगी की धूल हट चुकी थी और उसका सिर अपने पिता के सम्मान में झुका हुआ था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *