india

CM योगी का सख्त आदेश, प्रदेश में 30 सितंबर तक गणपति विसर्जन, मोहर्रम जैसा नहीं निकाला जाएगा कोई जुलूस

उत्तर प्रदेश में कोरोना के फैलते संक्रमण के मद्देनज़र योगी सरकार ने गणपति विसर्जन, मोहर्रम जैसे जुलूसों पर 30 सितंबर तक बैन लगा दिया है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगामी त्योहारों को लेकर पुलिस-प्रशासन के साथ बैठक की और आवश्यक एहतियात बरतने के निर्देश दिए हैं। साथ ही 30 सितंबर तक सार्वजनिक समारोह, धार्मिक उत्सव, राजनीतिक आंदोलन और सभाओं पर पूरी तरह बैन लगा दिया है।

यूपी के गृह विभाग की तरफ से जारी 23 अगस्त के इस आदेश में ये भी कहा गया है कि सार्वजनिक रूप से मूर्तियां स्थापित नहीं की जाएंगी, न ही ताजिया निकाले जाएंगे। गणेश उत्सव और मुहर्रम के मद्देनजर सरकार का ये बड़ा फैसला है। इसी पर सीएम योगी ने मंगलवार को अधिकारियों के साथ बैठक की और कहा कि कोरोना वायरस के मद्देनजर धार्मिक और सांस्कृतिक कार्यक्रमों की सार्वजनिक तौर पर इजाजत नहीं है और इसका पालन होना चाहिए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों से कहा कि अगर कोई भी नियमों का उल्लंघन करते हुए पाया जाए तो उनके खिलाफ सख्त एक्शन हो। साथ ही सोशल मीडिया पर पैनी नजर रखने और अफवाहों को लेकर सजग रहने के निर्देश भी मुख्यमंत्री ने दिए। गौरतलब है कि इस वक्त खासतौर पर मुहर्रम के जुलूस को लेकर काफी विवाद देखने को मिला है। यूपी की राजधानी लखनऊ समेत पूरे प्रदेश में मुहर्रम के मौके पर ताजिया निकाला जाता है, लेकिन कोरोना वायरस गाइडलाइंस के चलते इसकी इजाजत नहीं है।

ये मामला सुप्रीम कोर्ट भी पहुंचा, लेकिन वहां से भी राहत नहीं मिली। सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई थी कि कोरोना गाइडलाइंस का पालन करने के साथ 5 लोगों को ही मुहर्रम का जुलूस निकालने की इजाजत दी जाए। कोर्ट ने मंगलवार को ये याचिका खारिज कर दी। हालांकि, इस मामले की अगली सुनवाई सोमवार को होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *