News

Facebook का बड़ा ऐलान, भारत के इन शहर के कारोबारियों को मिलेगी इतने करोड़ की मदद

दुनिया की बड़ी कंपनियों में शुमार फेसबुक ने भारत के लिए बड़ा ऐलान किया है।  लॉकडाउन की वजह से आर्थिक संकट से जूझ रहे छोटे कारोबारियों को फेसबुक ने मदद देने का ऐलान किया है। फेसबुक ने भारत के छोटे और मध्यम दर्जे के कारोबारियों के लिए 4.3 मिलियन डॉलर यानी करीब 32 करोड़ रुपए सहायता की घोषणा की है। यह फेसबुक की ओर से छोटे कारोबारियों के लिए मार्च में घोषित 100 मिलियन डॉलर के ग्लोबल ग्रांट का हिस्सा है।

फेसबुक इंडिया के एमडी और वीपी अजीत मोहन का कहना है कि यह सहायता दिल्ली, गुड़गांव, मुंबई, हैदराबाद और बैंगलोर के तीन हजार से अधिक छोटे कारोबारियों दी जाएगी। जिसमें कैश और विज्ञापन क्रेडिट शामिल है, जिसमें कैश का हिस्सा अधिक है। मोहन ने कहा कि ”यह अनुदान कार्यक्रम सभी इंडस्ट्री के छोटे कारोबारियों के लिए खुला हुआ है और अप्लाई करने के लिए फेसबुक फैमिली ऐप्स की जरूरत नहीं है। इसके अलावा इसे पाने वाले लोग इस्तेमाल को लेकर स्वतंत्र होंगे यानी वे जैसे चाहें इसे खर्च कर सकते हैं।”

बता दें कि कोविड-19 से प्रभावित छोटे कारोबारियों की मदद के लिए फेसबुक और इंस्टाग्राम ने भारत में गिफ्ट कार्ड्स फीचर को भी लॉन्च किया है। इससे कारोबारी जरूरत के समय कैश प्राप्त कर सकते हैं, तब भी जबकि दुकानें बंद रहें। गिफ्ट कार्ड्स से छोटे कारोबारियों को अधिक संभावित ग्राहकों तक पहुंचने में मदद है मिलेगी। फेसबुक और इंस्टाग्राम पर गिफ्ट कार्ड कॉन्फिगर करना व्यापारियों के लिए मुफ्त है। सोशल मीडिया प्लेटफार्मों ने उपहार कार्ड जारी करने और मैनेजमेंट के लिए कई भागीदारों के साथ समझौता किया है।

फेसबुक इंडिया के एमडी ने कहा कि छोटे कारोबारी फेसबुक के लिए प्राथमिकता में हैं। दुनिया में हर महीने करीब 18 करोड़ छोटे कारोबारी अपने संभावित ग्राहकों तक पहुंचने के लिए फेसबुक फैमिली के ऐप्स का इस्तेमाल करते हैं और अपने कारोबार को बढ़ाते हैं। इसका मतलब है कि दुनिया में हर 45 लोगों के लिए ऐप्स पर एक छोटा कारोबारी है।

भारत सहित दुनियाभर में फेसबुक की ओर से किए गए सर्वे का हवाला देते हुए मोहन ने कहा कि फेसबुक पर मौजूद भारत के एक तिहाई स्मॉल, मीडियम कारोबारी मानते हैं कि अगले कुछ महीनों में कैश फ्लो की चुनौती रहेगी। साथ ही मोहन ने कहा, ”हम उम्मीद करते हैं कि हमारा अनुदान और कई अन्य कदमों से छोटे कारोबारियों को इस संकट से निकलने में मदद मिलेगी।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *