News

Facebook विवाद: डायरेक्टर अंखी दास ने पुलिस में दर्ज कराई शिकायत, जानिए…क्या है पूरा मामला?

फेसबुक मामले में तूल पकड़ता देख फेसबुक इंडिया की पब्लिक पॉलिसी डायरेक्‍टर अंखी दास ने धमकी देने के मामले में दिल्ली पुलिस में एक शिकायत दर्ज कराई है। अंखी दास का कहा है कि उन्होंने उन लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है जिन्होंने उन्हें धमकी दी है। वहीं, साउथ दिल्ली के डीसीपी ने बताया कि फेसबुक इंडिया की पब्लिक पॉलिसी डायरेक्‍टर अंखी दास की शिकायत मिली है और इस मामले में जांच की जा रही है। हालांकि, डीसीपी ने बताया कि इस मामले में अभी एफआईआर दर्ज नहीं गई है।

शिकायत में अंखी दास ने कहा है कि ऑनलाइन पोस्टिंग/कंटेंट के जरिये उनके जीवन और हिंसा का खतरा है। शिकायत में कुछ ट्विटर और फेसबुक हैंडल का जिक्र किया गया है, जहां से उन्हें धमकी मिली है। उन्होंने इस मामले में तत्काल एफआईआर दर्ज किए जाने की मांग की है। अंखी दास ने दिल्ली पुलिस में यह शिकायत उस समय दी है जब फेसबुक को लेकर विवाद छिड़ा हुआ है। अमेरिकी अखबार वॉल स्ट्रीट जर्नल में फेसबुक हेट-स्पीच रूल्स कोलाइड विद इंडियन पॉलिटिक्स हेडिंग से प्रकाशित रिपोर्ट के बाद भारत में सियासी आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है।

अमेरिकी अखबार की रिपोर्ट में कहा गया है कि फेसबुक भारत में बीजेपी नेताओं के हेट स्पीच के मामलों में नियम में ढील बरतता है। तेलंगाना से बीजेपी नेता टी राजा सिंह की एक पोस्‍ट को लेकर फेसबुक कर्मचारियों ने भारत में बीजेपी नेता की हेट स्पीच के बारे में सोशल मीडिया कंपनी के शीर्ष अधिकारी को बताया लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। टी राजा सिंह की एक फेसबुक पोस्‍ट में मुस्लिमों के खिलाफ हिंसा का समर्थन करने का दावा है।

वॉल स्ट्रीट जर्नल की रिपोर्ट के आधार पर ही कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने फेसबुक पर सवाल उठाए थे। उन्होंने ट्वीट किया, ‘मार्क जकरबर्ग कृपया इस पर बात करें। प्रधानमंत्री मोदी की समर्थक अंखी दास को फेसबुक में नियुक्त किया गया जो खुशी-खुशी मुस्लिम विरोधी पोस्ट को सोशल मीडिया पर अप्रूव करती हैं। आपने साबित कर दिया कि आप जो उपदेश देते हैं उसका पालन नहीं करते।’ वहीं, कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने बीजेपी-आरएसएस पर निशाना साधते हुए कहा कि फेसबुक और वॉट्सऐप इनके कब्जे में हैं जिसके जरिये ये नफरत और फेक न्यूज फैलाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *